नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की स्टार एथलीट हिमा दास को पिछले दिनों विभिन्न प्रतियोगिताओं में पांच स्वर्ण पदक जीतने पर रविवार को बधाई देते हुए उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी. प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर इस फर्राटा धाविका को बधाई दी. बता दें कि हिमा ने यूरोप में इस महीने विभिन्न प्रतियोगिताओं में पांच स्वर्ण पदक जीते. बता दें कि हिमा ने प्रदर्शन पिछले 19 दिनों में करके पांच गोल्‍ड मेडल जीते हैं. Also Read - जिस सशक्त भारत की कल्पना नेताजी ने की थी आज देश उसी नक्शे कदम पर चल रहा है: पीएम मोदी

पीएम ने ट्वीट किया, ”भारत को हिमा दास की पिछले कुछ दिनों की उपलब्धियों पर बहुत गर्व है. हर कोई इस बात से बहुत खुश है कि उन्होंने विभिन्न प्रतियोगिताओं में पांच पदक जीते. उनको बधाई और भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं. ” Also Read - ममता बनर्जी के लिए ‘जय श्री राम’ का नारा, सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज

हिमा ने यूरोप में इस महीने विभिन्न प्रतियोगिताओं में पांच स्वर्ण पदक जीते. उन्होंने हाल में चेक गणराज्य में 400 मीटर में स्वर्ण पदक जीता. इससे पहले उन्होंने पोलैंड में पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री और कुत्नो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 200 मीटर में दो स्वर्ण पदक हासिल किए थे.

उन्होंने चेक गणराज्य में 13 जुलाई को क्लादनो एथलेटिक्स प्रतियोगिता और बुधवार को इसी देश में ताबोर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीते थे. बता दें भारत की स्टार धाविका हिमा दास ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए यहां अपनी पसंदीदा 400 मीटर दौड़ में 52.09 सेकेंड के सत्र के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ इस महीने का पांचवां स्वर्ण पदक जीता

शनिवार का हिमा का यह प्रदर्शन हालांकि 50: 79 के उनके निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से धीमा है, जो उन्होंने जकार्ता एशियाई खेलों के दौरान बनाया था. वह साथ ही 51.80 सेकेंड के विश्व चैंपियनशिप के क्वालीफाइंग स्तर से भी चूक गई. हिमा का यह प्रदर्शन हालांकि 52.88 सेकेंड के सत्र में उनके पिछले सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से बेहतर है. दो जुलाई को यूरोप में पहली प्रतिस्पर्धी दौड़ में हिस्सा लेने के बाद से हिमा का यह पांचवां स्वर्ण पदक है.

हिमा ने साल की अपनी पहली 200 मीटर प्रतिस्पर्धी दौड़ में 23 . 65 सेकेंड के समय के साथ दो जुलाई को पोलैंड में पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री में स्वर्ण पदक जीता था. इसके बाद उन्होंने सात जुलाई को पोलैंड में ही कुत्नो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 23 .97 सेकेंड के साथ 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता.

चेक गणराज्य में 13 जुलाई को क्लादनो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में हिमा ने 23. 43 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता, जबकि बुधवार को इसी देश में उन्होंने ताबोर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में चौथा सोने का तमगा जीता.

इस साल अप्रैल में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पीठ की तकलीफ के कारण परेशान रहने के बाद असम की 19 साल की हिमा ने पहली बार 400 मीटर में हिस्सा लिया था. इस बीच एमपी जबीर ने भी 400 मीटर बाधा दौड़ में 49. 66 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता लेकिन मोहम्मद अनस को 200 मीटर में 20. 95 सेकेंड के समय से कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.