भारतीय मुक्केबाजों ने हाल के वर्षों में इंटरनेशनल स्तर पर सराहनीय प्रदर्शन किया है। इसी के चलते अब उनकी गिनती वर्ल्ड के मुक्केबाजों में होने लगी है। इस दौरान भारत में मुक्केबाजी के कई टूर्नामेंट भी आयोजित हुए हैं। इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन (AIBA) ने मंगलवार को भारत से विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2021 की मेजबानी छीनकर उसे तगड़ा झटका दिया। एआईबीए ने भारत से इसलिए मेजबानी छिनी ली क्योंकि भारतीय मुक्केबाजी महासंघ मेजबानी की फीस नहीं भर सका। एआईबीए ने बीएफआई पर जुर्माना भी लगाया है। भारत में यह टूर्नामेंट पहली बार होने वाला था। Also Read - ट्रायल्स में निखत जरीन से लड़ने को तैयार 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन एमसी मैरीकॉम

सर्बिया को दी गई मेजबानी Also Read - विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में हार के बाद मैरीकॉम ने ट्वीट कर नतीजे पर सवाल उठाए

अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ (एआईबीए) ने 2017 में किया गया करार तोड़कर अब सर्बिया को मेजबानी सौंपी है। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने स्वीकार किया कि विलंब हुआ है लेकिन कहा कि पैसा किस खाते में भेजना है, इसे लेकर मसले सुलझाने में एआईबीए के नाकाम रहने के कारण यह प्रक्रियागत पेचीदगियां पैदा हुई। करीब 40 लाख डॉलर का यह भुगतान पिछले साल दो दिसंबर को होना था। Also Read - विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : सेमीफाइनल में हारी मैरीकॉम

पृथ्वी से क्रिकेट और खेल से बाहर की जिंदगी के बारे में बात की : सचिन तेंदुलकर

500 डॉलर का भरना होगा जुर्माना

एआईबीए ने एक बयान में कहा, ‘भारत मेजबान शहर अनुबंध के नियमों के तहत मेजबानी की फीस नहीं भर सका जिससे एआईबीए ने करार तोड़ दिया। भारत को अब करार रद्द होने के कारण 500 डॉलर का जुर्माना भरना होगा. अब यह सर्बिया के बेलग्राद में होगा।

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष स्पाइसजेट एयरलाइन के मालिक अजय सिंह है। एआईबीए को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने वित्तीय कुप्रबंधन के कारण निलंबित कर दिया है।

बीएफआई ने किया खुद का बचाव

बीएफआई ने एक बयान में कहा ,‘लुसाने में एआईबीए के खाते बंद कर दिए गए हैं। सर्बिया में एक खाते के जरिए उसे कुछ पिछले भुगतान करने थे। सर्बिया चूंकि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ देशों) की ब्लैकलिस्ट में आता है तो भारतीय बैंक आम तौर पर वहां पैसा नहीं भेजते । एआईबीए इस मसले को सुलझा नहीं सका.

बुलेट थ्रो वीडियो पोस्ट कर रवींद्र जडेजा ने ‘बाहर घूम रहे’ लोगों को दी चेतावनी

इसमें कहा गया, ‘यह फैसला हमसे मशविरा किए बिना जल्दबाजी में लिया गया है। पेनल्टी लगाए जाने से हम स्तब्ध हैं। हम मिलकर इसका समाधान निकालेंगे। उम्मीद है कि भविष्य में इसकी मेजबानी करेंगे.

एआईबीए के अंतरिम अध्यक्ष मोहम्मद मुस्ताहसेन ने कहा, ‘सर्बिया खिलाड़ियों, कोचों, अधिकारियों और प्रशंसकों के लिए हर तरह से बेहतरीन आयोजन में सक्षम है.