Trending Cricket News: दूसरे वनडे मुकाबले में 390 रन के लक्ष्‍य का पीछा करते हुए भारतीय टीम (India vs Australia) फेल हो गई. इसके साथ ही भारत ने मौजूदा वनडे सीरीज 2-0 से गंवा दी है. पूर्व सलामी बल्‍लेबाज आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) का कहना है कि अगर हमें 350 से अधिक के लक्ष्‍य का पीछा करना है तो टीम को रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की सख्‍त जरूरत है. Also Read - भारत के खिलाफ फ्लॉप रहे Matthew Wade ने BBL में करीब 200 की स्‍ट्राइकरेट से बनाए रन, बने MoM

अपने यू-ट्यूब चैनल पर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने कहा, “इतना बड़ा रन चेज केवल उपरी क्रम के बल्‍लेबाजों के अच्‍छे प्रदर्शन से ही संभव है. निचले क्रम के बल्‍लेबाज से आप इतना बड़ा लक्ष्‍य बनाने की उम्‍मीद नहीं कर सकते. टॉप ऑर्डर के तीन बल्‍लेबाजों के जल्‍द आउट हो जाने के बाद आप इस तरह के लक्ष्‍य को भेदने की कल्‍पना भी नहीं कर सकते हो.” Also Read - घर लौटकर T Natarajan ने बताया वो कब हो गए थे नर्वस, टेस्‍ट सीरीज जीत में निभाई अहम भूमिका

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने कहा, “शीर्ष तीन में से कम से कम दो को अच्‍छा प्रदर्शन करना ही होगा. अच्‍छे प्रदर्शन से मेरा मतलब है कि एक को तो शतक लगाना ही होगा. दूसरे बल्‍लेबाज को भी 70 से 80 रनों का योगदान देना होगा. इनमें से कुछ भी नहीं हुआ तो आप मैच नहीं जीत सकते हो.” Also Read - Rahul Dravid ने ऑस्‍ट्रेलिया में जीत का श्रेय लेने से किया इंकार, बोले- ये युवाओं का कमाल

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra)  ने कहा कि भारत को अच्‍छी शुरुआत मिली लेकिन जल्‍दी जल्‍दी में शिखर धवन और केएल राहुल के आउट होने के बाद श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) का विकेट गिरने के कारण भारत की जीतने की उम्‍मीदें खत्‍म हो गई.

“भारत की शुरुआत इतनी बुरी नहीं थी. मैं पहली भी कह चुका हूं कि केएल राहुल सही जगह पर बल्‍लेबाजी नहीं कर रहे हैं. उनसे पारी की शुरुआत कराई जानी चाहिए.”

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने ये भी कहा कि अब तीसरे मुकाबले में राहुल से ओपन कराना ठीक नहीं रहेगा. “अगर आप मयंक को बाहर बैठाकर केएल राहुल (KL Rahul) से ओपन कराते हो तो मध्‍यक्रम में मनीष पांडे (Manish Pandey) को केवल एक मुकाबला ही मिलेगा. जो उनके लिए ठीक नहीं है. इस तरह से आप मयंक (Mayank Agarwal) और मनीष दोनों के साथ ही न्‍याय नहीं कर पाओगे.”

उन्‍होंने कहा, “अगर भारतीय टीम में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) होते तो हम ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ ज्‍यादा आक्रामक व बोल्‍ड तरीके से खेल पाते लेकिन वो टीम का हिस्‍सा नहीं हैं. अगर आपको 350 से अधिक के लक्ष्‍य का पीछा करना है तो आपको रोहित शर्मा की जरूरत है.”