नई दिल्ली. दुबई में आज से ICC की जनरल मीटिंग शुरू हो रही है. इस मीटिंग का माहौल इसके शुरू होने से पहले से ही टेंश हैं. वजह है भारत-पाकिस्तान के ताजा हालात और उसकी वजह से क्रिकेट पर आई आंच. भारत- पाक के बीच क्रिकेट के बाइलेटरल रिश्ते तो हाशिए पर थे ही पुलवामा आतंकी हमले के बाद अब ICC इवेंट में भी दोनों देशों की टीमों के मुकाबले पर तलवार लटकती दिख रही है.

भारत-पाक क्रिकेट पर रहेगी तनातनी

ICC मीटिंग में भारत दोनों देशों के बीच पैदा हुए ताजा हालात को पूरे जोश और सबूतों के साथ उठाने वाला है. उसकी कोशिश वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ सिर्फ खेलने से इंकार करने की नहीं होगी बल्कि पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से भी बाहर कराने की होगी. इसके लिए BCCI मीटिंग में ICC पर दबाव बनाने की कोशिश करेंगे. बता दें कि इस साल इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में भारत-पाक की टक्कर 16 जून को प्रस्तावित है.

PCB का स्टैंड

उधर सूत्रों के मुताबिक PCB यानि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने दावा किया है कि अगर भारत पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर मैनचेस्टर में 16 जून को होने वाले विश्व कप मैच का बहिष्कार करने का फैसला करता है तो वो इसका जवाब देने के लिये तैयार है. PCB के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘‘पाकिस्तान का मानना है कि अगर भारत वाकओवर देना चाहता है तो वह इस पर कुछ नहीं कर सकता है. लेकिन इससे सवाल पैदा होगा कि अगर दोनों देश क्वालीफाई कर जाते हैं और फिर नाकआउट राउंड में मिलते हैं तो फिर क्या होगा.’’ PCB की ओर से ICC मीटिंग में अध्यक्ष एहसान मनि, महाप्रबंधक वसीम खान और COO सुभान अहमद भाग ले सकते हैं.

इन पर भी होगी चर्चा

2 मार्च तक चलने वाली ICC मीटिंग में भारत-पाक क्रिकेट रिश्तों के अलावा भविष्य की वैश्विक प्रतियोगिताओं के लिए कर छूट, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के प्रसारण अधिकार और निजी टी20 लीग में प्रतिनिधित्व सीमित करने जैसे मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है.