टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में पहले दो मैच हारकर वनडे सीरीज गंवा दी है. इस दौरे पर उसका सबसे बड़ा इम्तिहान आगामी टेस्ट सीरीज (Indian Australia Test Series) से होगा, जो 17 दिसंबर को एडिलेड में डे-नाइट टेस्ट से शुरू होगी. इस बार भारत पर दबाव इसलिए भी अधिक होगा क्योंकि उसके नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पहले टेस्ट मैच के बाद घर लौट जाएंगे. ऐसे में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने कहा कि अगर विराट कोहली के बिना टीम इंडिया टेस्ट सीरीज में कंगारुओं को मात दे देती है तो उसे इस जीत का फिर एक साल तक जश्न मनाना चाहिए.Also Read - ब्रेट ली ने कही बड़ी बात, क्रिकेट से ब्रेक ले सकते हैं Virat Kohli!

ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व कप्तान ने कहा कि विराट इस भारतीय टीम 2 अहम रोल अदा करते हैं. तो सवाल है कि जब वह टीम में नहीं होंगे तो उनकी जगह बैटिंग और कप्तानी कौन करेगा. Also Read - फाइनल से चूकी आरसीबी, संजय मांजरेकर ने उठाए विराट कोहली पर सवाल

क्लार्क ने केएल राहुल की क्षमताओं की तारीफ की है, जो विराट के क्रम नंबर 4 पर बैटिंग कर सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) को बतौर कप्तान रणनीतिक तौर पर सही करार दिया है. लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि विराट कोहली को रिप्लेस करना संभव नहीं है. Also Read - कोच कुमार संगकारा के प्रेरणादायक शब्दों ने मुझे प्रेरित किया : जॉस बटलर

42 वर्षीय इस पूर्व खिलाड़ी ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा, ‘विराट कोहली के दो खास पक्ष हैं. पहला उनकी बैटिंग और दूसरा उनकी कप्तानी. विराट की जगह कौन बैटिंग करने वाला है. केएल राहुल बहुत प्रतिभाशाली है, इसमें कोई शक नहीं है. वह इन अनुभवी खिलाड़ी हैं, जो इन परिस्थितियों में पहले खेल चुके हैं. लेकिन विराट कोहली की जगह भरना किसी के लिए भी संभव नहीं है.’

रहाणे की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, ‘मुझे जिक्स (अंजिंक्य रहाणे) भी बहुत पसंद हैं. वह बेहतरीन खिलाड़ी हैं. उनकी कप्तानी भी बहुत अच्छी है. रणनीतिकतौर पर वह अच्छे कप्तान हैं और यह भारत के लिए अच्छा है. आपको इसे एक अवसर के तौर पर देखना चाहिए. आप यहां इतिहास रच सकते हैं और आपको ऐसी ही कोशिश करनी चाहिए.’

इस अनुभवी बल्लेबाज ने कहा, ‘अगर भारत ऑस्ट्रेलिया को उसी की सरजमीं पर विराट कोहली के बिना हरा सकता है, तब आप इस जीत का जश्न एस साल तक मना सकते हैं. मैं मानता हूं कि भारतीय खिलाड़ियों इसे ऐसे ही देखना चाहिए. उन्हें यह भरोसा करना चाहिए कि वह ऑस्ट्रेलिया में इस ऑस्ट्रेलियाई टीम को मात दे सकते हैं.’