नई दिल्ली. गोल्ड कोस्ट में कॉमनवेल्थ गेम्स का बिगुल 4 अप्रैल से बजने वाला है, लेकिन उससे पहले ही भारतीय खिलाड़ियों के दल और फेडरेशन की नैय्या हिचकोले खाती दिख रही है. गेम्स की शुरुआत से पहले ही भारतीय ओलंपिक संघ और भारतीय एथलेटिक संघ में तनातनी शुरू हो गई है क्योंकि कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने 3 भारतीय एथलीटों के नाम लिस्ट से काट दिए हैं. 3 एथलीटों के नाम काटे जाने की जानकारी कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने पत्र लिखकर IOA और भारतीय कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन को दी. कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने जिन तीन भारतीय एथलीटों के नाम काटे हैं उनमें सिद्धार्थ यादव, विजयाकुमारी और एस. श्रीशंकर के नाम शामिल हैं. लिस्ट से नाम हटने के बाद ये तीनों एथलीट अब गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में शिरकत नहीं कर पाएंगे.

क्यों गिरी गाज ?

इन तीनों एथलीटों का नाम लिस्ट से हटाए जाने की वजह बताते हुए कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन के CEO डेविड ग्रेवेमबर्ग ने अपने ईमेल में लिखा है कि CGF को इस मुद्दे पर विचार करने की कोई खास वजह दिखाई नहीं देती. भारत क अनुरोध को मानने से CGF के नियमों का उल्लंघन होगा, क्योंकि इन तीनों के आवेदन अंतिम तारीख निकल जाने के बाद आए थे.

AFI और IOA में तनातनी

लंबी कूद के एथलीट श्रीशंकर, ऊंची कूद के एथलीट सिद्धार्थ यादव और 400 मीटर की धाविका विजयाकुमारी के नाम देर से भेजने को लेकर अब इंडियन ओलंपिक एसोशिएशन और भारतीय कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन के बीच ठन गई है. IOA शुरू से कह रहा है कि भारतीय कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने इन तीनों खिलाड़ियों को फॉर्म भेजने की आखिरी तारीख 7 मार्च के बाद इन तीनों एथलीटों को दिए. वहीं AFI इसे IOA की गलती बता रहा है.

कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स: खेलगांव में पिता को नहीं मिली एंट्री, साइना नेहवाल खफा

कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स: खेलगांव में पिता को नहीं मिली एंट्री, साइना नेहवाल खफा

एथलीट का दर्द

कॉमनवेल्थ गेम्स से नाम काटे जाने की निराशा उन तीन खिलाड़ियों पर भी है. सिद्धार्थ यादव ने कहा,” ये मेरी पहली अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता थी लेकिन इस खबर ने मुझे झकझोर दिया है. ऐसा लग रहा है कि मेरा सफर शुरू होने से पहले ही खत्म हो चुका है. ”

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय दल के प्रमुख विक्रम सिंह सिसोदिया ने कॉमनवेल्थ गेम्स के आयोजकों के सामने इन तीनों एथलीटों के फॉर्म को स्वीकारने का मुद्दा उठाया था, आयोजकों ने आश्वासन भी दिया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ.

कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन का निर्देश- 'भारतीय को ढूंढो और उनका टेस्ट करो'

कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन का निर्देश- 'भारतीय को ढूंढो और उनका टेस्ट करो'

इस वजह से देरी

बता दें कि एएफआई का फेडरेशन कप 7 मार्च को शुरू हुआ था और इसी दिन इन तीनों एथलीटों ने कॉमनवेल्थ के लिए क्वालिफाई किया था. AFI ने इन तीनों के नाम IOA को भेज दिए थे ताकि वो कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन को बढ़ा सकें लेकिन उनके नाम तय तारीख के बाद भेजे गए.