Mohammed-Shami-of-India-celebrates-with-his-teammates-2Also Read - 13 दिसंबर को NCA से जुड़ेंगे VVS Laxman, अंडर- 19 वर्ल्ड कप के लिए टीम के साथ भी करेंगे यात्रा

Also Read - IND vs SA: भारत के साउथ अफ्रीका दौरे पर दिखा Omicron का असर- एक सप्ताह आगे खिसका कार्यक्रम

विश्वकप में भारतीय टीम ने अपने प्रदर्शन से सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है। यही कारण है कि टीम इंडिया ने लगातार चार मैच में जीत दर्ज कर ली है। इसलिए टीम अपना जीत का विजय रथ जारी रखने की कोशिश करेगी। साथ ही लगातार पांचवीं जीत दर्ज करने के इरादे से टीम मैदान पर उतरेगी। Also Read - BCCI ने लिया बड़ा फैसला, मैच अधिकारियों और सहयोगी स्टाफ की उम्र सीमा बढ़ाकर की 65 साल

वही अगर मंगलवार को टीम इंडिया आयरलैंड को हरा देती है तो विश्व कप में लगातार नौ जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड उसके नाम हो जाएगा। पिछले मैच में वेस्टइंडीज पर मिली जीत उसकी लगातार आठवीं जीत थी जिसके साथ उसने 2003 में दक्षिण अफ्रीका में हुए विश्व कप में सौरव गांगुली की टीम के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली थी।

भारतीय टीम पहले ही क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। इसलिए इस मैच में वह कुछ खिलाड़ियों को आराम दे सकती है हालांकि विजेता टीम में बदलाव की संभावनाएं काफी कम हैं। वहीं दूसरी ओर आयरलैंड इस मैच में उलटफेर कर क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का प्रयास करेगी। आयरलैंड के खिलाफ भारत का पिछला रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है और उसे हमेशा ही जीत मिली है इसलिए टीम इंडिया का हौसला बुलंद है। यह भी पढ़े-आईसीसी विश्व कप २०१५: टीम इंडिया ने वेस्ट इंडीज़ को ४ विकेट से रौंदा

लेकिन वह आयरलैंड को कमजोर समझने की भूल नहीं करेगी। क्योंकि यह टीम कई बड़ी टीमों के खिलाफ शानदार प्रदर्शन कर चुकी है। ऐसे में टीम इंडिया को अब सावधान होने की जरूरत है. जिससे आयरलैंड को हल्के में लेना बड़ी भूल ना साबित हो। यह भी पढ़े-आयसीसी क्रिकेट विश्व कप २०१५ : आयरलैंड ने किया उलटफेर, वेस्टइंडीज को हराया

कितनी खतरनाक है आयरलैंड टीम।

बता दे कि आयरलैंड ने अपने पहले ही मैच में वेस्टइंडीज को हराया जिसमें टीम ने 304 रन के लक्ष्य का पीछा करके मैच को जीता था। दसरे मैच मैं आयरलैंड ने यूएई को हराया इस मैच में आयरलैंड 278 के स्कोर का पीछा कर जीती। चौथे मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ आयरलैंड ने 331 रन बनाए और रोमांचक मुकाबले में 5 रन से जीत दर्ज की। साथ ही आयरलैंड की टीम बड़े स्कोर बना भी सकती है और बड़े स्कोर का पीछा भी कर सकती है जाहिर है टीम इंडिया को ऐसी टीम से सावधान रहने की जरूरत है।

टीम इंडिया को सावधान रहने की जरुरत।

टीम इंडिया तीन महीने से ऑस्ट्रेलिया में है। ऑस्ट्रेलिया में ट्राई सीरीज में मिली हार के बाद अब टीम इंडिया वहां के माहौल में ढल चुकी है। लगातार जीत भी रही है. लेकिन अब भारतीय टीम न्यूजीलैंड में है। यहां के कंडिशन उसके लिए बिल्कुल नए हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ पर्थ की पिच में उछाल क्या मिला टीम इंडिया की बैटिंग का खराब नमूना सबके सामने था। यह भी पढ़े-विश्वकप 2015: बड़ा उलटफेर, बांग्‍लादेश से हारकर इंग्‍लैंड विश्व कप से बाहर

मैदान के आंकड़े टीम के लिए अच्छे नहीं।

ज्ञात हो कि हैमिल्टन में वैसे ही टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद खराब है। अब तक खेले गए 8 में से 6 मैचों में भारत की हार हुई है। हैमिल्टन में टीम इंडिया की तरफ से एक ही शतक लगा है। सहवाग ने ये शतक लगाया था। ऐसे में टीम इंडिया को अपना यह आंकड़ा सुधारने का एक अच्छा मौक़ा है।

गौरतलब है कि पिछली बार भारत और आयरलैंड की टक्कर बेंगलूर में पिछले विश्व कप के दौरान हुई थी जिसमें मेजबान ने पांच विकेट से जीत दर्ज की थी। युवराज सिंह ने अर्धशतक जमाने के साथ पांच विकेट लिए थे। यह भी पढ़े-विश्व कप 2015 : आयरलैंड की जिम्बाब्वे पर 5 रनों से रोमांचक जीत