नई दिल्ली: अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने वनडे इंटरनेशनल और टी-20 मुकाबलों में पिछले कुछ सालों में शानदार प्रदर्शन किया. उसने वर्ल्ड क्रिकेट को राशिद खान जैसा बेहद प्रतिभाशाली गेंदबाज दिया. आईसीसी ने लगातार टीम पर नजर बनाए रखी और फिर टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली टीमों की लिस्ट में शामिल किया. अफगानिस्तान का पहला टेस्ट मुकाबला टीम इंडिया से तय हुआ, जो कि आईसीसी टेस्ट रैकिंग में टॉप पर चल रही है. इस टेस्ट मैच का नतीजा कुछ भी हो, लेकिन अफगानिस्तान के लिए यह बेहद खास होगा. बेंगलुरु में खेले जा रहे टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में ऑलआउट होने तक 474 रन बनाए.

एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में गुरुवार को भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. इस दौरान टीम के लिए शिखर धवन और मुरली विजय ओपनिंग करने आए. धवन और मुरली ने शतकीय साझेदारी निभाते हुए टीम को दमदार शुरुआत दी. इन दोनों बल्लेबाजों ने शतक जड़ा. इससे टीम इंडिया बड़े स्कोर की ओर बढ़ी. भारत के लिए पहला विकेट धवन का गिरा. उन्होंने 96 गेंदों में 111.46 के स्ट्राइक रेट से 107 रन की अहम पारी खेली. खास बात यह रही कि धवन ने लंच ब्रेक से पहले शतक जड़ा और वो ऐसा करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए.

क्रिकेट से दूर हैं फिर भी कहां बिजी हैं टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, देखें तस्वीरें

अफगानिस्तान के गेंदबाज भारत की ओपनिंग जोड़ी को तोड़ने में नाकाम दिखे. हालांकि काफी मशक्कत करने के बाद यामिन अहदमजई ने धवन का विकेट हासिल किया. इसके बाद मुरली भी 105 रन बनाकर आउट हुए. विजय का विकेट वफादार ने लिया. भारत की ओपनिंग जोड़ी टूटने के बाद लोकेश राहुल कुछ देर तक क्रीज पर टिके रहे. राहुल ने 64 गेंदों में 54 रन बनाए और चलते. इसके बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा सस्ते में निपटे और बिना किसी विशेष योगदान के पवेलियन लौट गए. एक बात यह भी रही कि मैच के पहले दिन कई बार बारिश का खलल रहा. इस वजह से खेल काफी देर तक रुका भी रहा.

इस मामले में वर्ल्ड क्रिकेट में नंबर वन हैं शिखर धवन और मुरली विजय

भारत के ओपनर खिलाड़ियों के आउट होने के बाद मध्यक्रम बुरी तरह फ्लोप रहा. पहला दिन खत्म होने तक भारत ने 6 विकेट खोकर 347 रन बना लिए थे. इसके पहले लम्बे समय के बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी करने वाले दिनेश कार्तिक महज 4 रन बनाकर रन आउट हो गए थे. टेस्ट मैच के दूसरे दिन हार्दिक पांड्या और रविचन्द्रन अश्विन ने टीम के लिए शुरुआत की. इस दौरान अश्विन 18 रन बनाकर पवेलियन लौटे. लेकिन पांड्या काफी देर तक क्रीज पर टिके रहे. उन्होंने 94 गेंदों का सामना करते हुए 75.53 के स्ट्राइक रेट से 71 रन बनाए. इस तरह रविन्द्र जडेजा 20 रन और ईशांत शर्मा 8 रन बनाकर पवेलियन लौटे. अंत में उमेश यादव 26 रन बनाकर नाबाद रहे.

शतकीय पारी के बाद धवन ने बताया कैसे पढ़ लेते हैं राशिद की गेंद

इस टेस्ट मुकाबले में एक तरफ वर्ल्ड की नंबर वन टीम है तो दूसरी अनुभवहीन टीम है, जिसके पास अच्छे खिलाड़ी हैं. यह मुकाबला टक्कर नहीं होगा. यह बात पहले दिन ही साफ हो गयी. हालांकि किसी भी तरह उम्मीद भी नहीं की जा सकती थी कि दोनों टीमों के बीच टक्कर देखने को मिले. लेकिन कहीं न कहीं क्रिकेट विशेषज्ञों और फैन्स को यह जरूर लग रहा था कि राशिद खान का जलवा देखने को मिलेगा. जब कि ऐसा नहीं हुआ. राशिद 34.5 ओवर में 2 विकेट ही ले पाए. लेकिन मनोबल बढ़ाने के लिए यह भी अच्छा प्रदर्शन माना जा सकता है.