सिडनी वनडे में ऑस्ट्रेलियाई टीम (India vs Australia ODI) ने भारत के सामने 375 रनों का विशाल लक्ष्य रखा है. कंगारू टीम इस शानदार टोटल तक अगर यहां पहुंची तो इसमें कप्तान (Aaron Finch) एरॉन फिंच (114), (Steve Smith) स्टीव स्मिथ (105) और (Glenn Maxwell) ग्लेन मैक्सवेल (45) का योगदान सबसे अहम रहा. इन तीनों ने मिलकर 264 रन अपनी टीम के लिए बनाए वे भी सिर्फ 209 गेंदों पर. थोड़े दिन पहले ये तीनों बल्लेबाज आईपीएल (IPL 2020) में खेले थे लेकिन तब इन तीनों का ही ये सीजन फ्लॉप साबित हुआ था. Also Read - Shardul Thakur ने बताई आपबीती, मेरे साथ स्‍लेजिंग का प्रयास किया जाता रहा, एक-दो बार तो मैंने...

आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया के ये तीनों दिग्गज खिलाड़ी अपनी लय में दिखाई नहीं दिए थे, लेकिन आज जैसे ही वह ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए खेले तो उन्होंने उसी अंदाज में अपना उम्दा खेल दिखाया, जिसके लिए वे जाने जाते हैं. कप्तान एरोन फिंच ने भले अपने 114 रन खेलने के लिए 124 गेंदें खर्च की हों लेकिन स्टीव स्मिथ और मैक्सवेल ने तो कम गेंदें खेलकर टीम के खाते में अधिक से अधिक रन का योगदान दिया. Also Read - वीरेंद्र सहवाग ने अपने ही अंदाज में की शार्दुल-सुंदर की तारीफ, वीवीएस ने कही ये बात

स्टीव स्मिथ ने आज सिर्फ 66 गेंदों का ही सामना किया और उन्होंने इस दौरान 11 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 105 रन बनाए. वहीं नंबर 5 पर बैटिंग करने आए ग्लेन मैक्सवेल ने सिर्फ 19 ही गेंदें खेली थीं लेकिन जिस लय में उन्होंने बैटिंग वह ऑस्ट्रेलिया की रनगति को और बढ़ाने में बहुमूल्य साबित हुआ. मैक्सवेल ने 19 गेंदों में 5 चौके और 3 छक्के जमाते हुए 45 रन अपने नाम किए. Also Read - ऑस्‍ट्रेलिया के लिए बेहद अशुभ है 33 रन की बढ़त लेने का नंबर, जानें क्‍या कहता है इतिहास

वहीं इन तीनों खिलाड़ियों के इस साल आईपीएल सीजन की बात करें, तो मैक्सवेल तो आईपीएल में इस बार एक भी हाफ सेंचुरी तक नहीं जमा पाए थे. उन्होंने किंग्स XI पंजाब (KXIP) के लिए खेले 13 आईपीएल मैचों की 11 पारियों में सिर्फ 108 रन ही बनाए, वह इस बार आईपीएल एक छक्का तक नहीं जमा पाए थे. वहीं एरोन फिंच की अगर बात करें तो उन्होंने इस सीजन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) की ओर से 12 मैच की 12 पारियों में 268 रन बनाए और वह सिर्फ एक हाफ सेंचुरी ही जमा पाए.

इसके अलावा स्टीव स्मिथ जो राजस्थान रॉयल्स (RR) के कप्तान भी थे. उनकी टीम इस बार लीग स्टेज से आगे नहीं बढ़ पाई और स्मिथ ने 14 मैच की 14 पारियों में सिर्फ 311 रन ही बनाए. उनके बल्ले से यहां सिर्फ 3 हाफ सेंचुरी ही निकल पाईं.