India vs Australia, 3rd Test: सिडनी टेस्‍ट के पांचवें दिन हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) और रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने 236 गेंदों का सामना कर भारत को मैच में हार के खतरे से बचा लिया. सीरीज 1-1 अभी भी बराबरी पर है. अब ब्रिसबेन में होने वाले मुकाबले में सीरीज का नतीजा आएगा. Also Read - भारतीय क्रिकेटरों के मुकाबले में अभी 'प्राइमरी क्लास' में हैं युवा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी: ग्रेग चैपल

हनुमा विहारी ने 161 गेंदो का सामना कर 23 रन बनाए जबकि रविचंद्रन अश्विन ने 128 गेंदों पर 39 रनों का योगदान दिया.
चेतेश्वर पुजारा और रिषभ पंत की शतकीय साझेदारी टूटने से जीत की उम्मीदें धूमिल पड़ने के बाद हनुमा विहारी और रविचंद्रन अश्विन ने क्रीज पर पांव जमाये. Also Read - कप्तान अजिंक्य रहाणे के पूछने पर गाबा टेस्ट में चोट के साथ गेंदबाजी को तैयार थे नवदीप सैनी

विहारी ने पांव की मांसपेशियों में खिंचाव आने के बावजूद अश्विन के साथ अंतिम सत्र में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की हर रणनीति को नाकाम करके उसकी जीत की उम्मीदों पर पानी फेरा. Also Read - ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले युवराज सिंह के साथ किए अभ्यास ने शॉर्ट गेंदो का सामना करने में मदद की: शुबमन गिल

इससे पहले पुजारा ने 205 गेंदों पर 77 रन बनाये थे जबकि विहारी से पहले बल्लेबाजी के लिये भेजे गये पंत ने आक्रामक अंदाज दिखाकर 118 गेंदों पर 12 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 97 रन बनाये. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिये 148 रन जोड़े.

भारत ने 407 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिर में 131 ओवरों में पांच विकेट पर 334 रन बनाये. जब मैच में एक ओवर बचा हुआ था तब दोनों टीमें ड्रॉ पर सहमत हो गयी. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 338 रन बनाये थे और दूसरी पारी छह विकेट पर 312 रन बनाकर समाप्त घोषित की. भारत ने पहली पारी में 244 रन बनाये थे.