सिडनी, 7 जनवरी | भारतीय क्रिकेट टीम ने सिडनी क्रिकेट मैदान (सीएसजी) पर जारी चौथे टेस्ट के दूसरे दिन बुधवार का खेल खत्म होने तक अपनी पहली पारी में एक विकेट पर 71 रन बना लिए। भारतीय टीम ने मुरली विजय (0) का विकेट गंवाया है। रोहित शर्मा (40) और लोकेश राहुल (31) नाबाद लौटे। विजय को मिशेल स्टार्क ने उस समय आउट किया, जब भारत का खाता भी नहीं खुला था। वह सिर्फ तीन गेंदों का सामना कर सके। इसके बाद अपने करियर का दूसरा टेस्ट खेल रहे राहुल तथा सिडनी में वापसी करने वाले रोहित ने पारी को सम्भालने का काम किया और दूसरे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी निभाई।

रोहित ने अपनी 76 गेंदों की पारी में तीन चौके लगाए हैं जबकि मेलबर्न टेस्ट की दोनों पारियों में निराश करने वाले कर्नाटक के सलामी बल्लेबाज राहुल ने 71 गेंदों का सामना कर दो चौके जड़े हैं। भारतीय टीम ने 25 ओवरों का सामना किया है और वह पहली पारी की तुलना में अभी भी 501 रन पीछे है। भारत ने 2.84 के औसत से रन बनाए हैं। इससे पहले, मेजबान टीम ने अपनी पहली पारी सात विकेट पर 572 रनों पर घोषित कर दी। आस्ट्रेलियाई टीम ने अपनी पारी के आखिर में तेजी से रन जुटाए और चायकाल के बाद 21 गेंदों में 34 रन बनाए।

नौ गेंदों में पांच चौके की मदद से 25 रन बनाने वाले रायन हैरिस का 153वें ओवर की तीसरी गेंद पर विकेट गिरते ही पारी घोषित कर दी। करियर के दूसरे मैच में अर्धशतक लगाने वाले जोए बर्न्‍स (58) के रूप में आस्ट्रेलिया का छठा विकेट गिरा था। बुधवार को आस्ट्रेलिया ने पहले सत्र में कप्तान स्टीवन स्मिथ (117) और शेन वॉटसन (81) के दो विकेट गंवाए, जबकि दूसरे सत्र में शॉन मार्श (73) का विकेट गिरा।

आस्ट्रेलियाई टीम मौजूदा सीरीज के सभी मैचों की अपनी पहली पारियों में 500 से अधिक का स्कोर खड़ा करने में सफल रही है। पहले दिन डेविड वार्नर (101) और क्रिस रोजर्स (95) के विकेट गंवाकर 348 रन बनाने वाली मेजबान टीम के लिए दूसरे दिन स्मिथ और वॉटसन ने तीसरे विकेट के लिए 196 रनों की साझेदारी कर टीम का स्कोर 400 तक पहुंचा दिया, जिसे मार्श और बर्न्‍स ने पांचवें विकेट के लिए 114 रनों की साझेदारी कर 500 की सीमारेखा भी पार पहुंचा दिया।

स्मिथ पहले दिन स्टम्प्स तक 82 और वॉटसन 61 रनों पर नाबाद लौटे थे। वॉटसन 400 के कुल योग पर मोहम्मद समी की गेंद पर रविचंद्रन अश्विन के हाथों कैच किए गए। वॉटसन ने इस सीरीज का दूसरा अर्धशतक लगाते हुए 183 गेंदों का सामना कर सात चौके लगाए। 415 रन के कुल योग स्मिथ 208 गेंदों में 15 चौके लगाकर पवेलियन लौटे। स्मिथ किसी एक सीरीज में चार या उससे अधिक पारियों में लगातार शतक लगाने वाले पांचवें बल्लेबाज बने।

स्मिथ से पहले ब्रैडमैन, हर्वे, फिंग्लेटन, हेडन यह कारनामा कर चुके हैं। स्मिथ ने एडिलेड में 162, ब्रिस्बेन में 133, मेलबर्न में 192 रनों की पारियां खेली थीं। भारत की ओर से समी ने सर्वाधिक पांच विकेट चटकाए, जबकि अश्विन और उमेश यादव को एक-एक सफलता मिली।

चार मैचों की सीरीज में मेजबान टीम 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर चुकी है। उसने एडिलेड और ब्रिस्बेन में जीत हासिल की थी। मेलबर्न टेस्ट बराबरी पर छूटा था।