भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के पहले दो मैचों में बड़ा स्कोर ना बना पाने की वजह से आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष से गिरकर तीसरे स्थान पर आए स्टीव स्मिथ (Steve Smith) को साथी खिलाड़ी डेविड वार्नर (David Warner) का साथ मिला है। वार्नर का कहना है कि हर बल्लेबाज के करियर में ऐसा समय आता है और स्मिथ भी उसी से जूझ रहे हैं।Also Read - IPL 2022: सनराइजर्स हैदराबाद ने नहीं किया रिटेन तो David Warner ने दी यह प्रतिक्रिया

स्मिथ बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी में खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं और रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें दो जबकि जसप्रीत बुमराह ने एक बार आउट किया है। वार्नर ने पूर्व कप्तान स्मिथ के इस खराब फॉर्म को एशेज 2019 के दौरान अपनी खराब फॉर्म से जोड़ा, जहां इंग्लिश तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने उन्हें अपना बनी बनाया था। वार्नर का मानना है कि ये स्मिथ के रवैये से अधिक भारत की अच्छी गेंदबाजी से जुड़ा है क्योंकि इस बल्लेबाज ने तैयारी में कोई कमी नहीं छोड़ी है। Also Read - SA vs IND: कोरोना के तीसरे वैरिएंट के बीच भारत का साउथ अफ्रीका दौरा, कप्तान ने जताया 'बायो-बबल' कदमों पर भरोसा

वार्नर ने शनिवार को ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस के दौरान, ‘‘केन विलियमसन ने हाल में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज की रैंकिंग (आईसीसी रैंकिंग) में स्टीव स्मिथ को पछाड़ दिया लेकिन अगर अब भी आप उसका औसत देखो को ये 60 से अधिक है। सभी की फॉर्म में थोड़ी गिरावट स्वीकार की जानी चाहिए और मैंने भी इंग्लैंड (एशेज 2019) में अपने साथ ऐसा देखा।’’ Also Read - Ashes 2021: पर्थ में नहीं खेला जाएगा पांचवां टेस्ट, यहां हो सकता है आयोजन!

वार्नर का मानना है कि अगर गेंदबाज ने अच्छी गेंद फेंकी है तो उस पर कोई भी आउट हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘किसी दिन अगर किसी गेंद पर आपका नाम लिखा है तो आप कुछ नहीं कर सकते। आप देख सकते हैं कि उसकी (स्मिथ) तैयारी में कोई कमी नहीं है क्योंकि वह नेट पर आउट नहीं हो रहा। वह हमेशा कड़ी मेहनत करता है।’’

वार्नर ने महसूस किया है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों टीमों के बल्लेबाजों ने अधिकांश समय विरोधी गेंदबाजों को दबदबा बनाने का मौका दिया। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप काफी अच्छे गेंदबाजी अटैक को, जो दोनों टीमों के पास है, बिना उन पर दबाव बनाए दबदबा बनाने का मौका दोगे तो फिर रन बनाना मुश्किल हो जाएगा। दोनों टेस्ट में दोनों टीमों के शीर्ष क्रम ने खुलकर नहीं खेला। आपको जज्बा दिखाना होगा कि आप गेंदबाजों का सामना करने को तैयार हो, उनकी लाइन और लेंथ बिगाड़ो और मैं अपने अनुभव से ये कह रहा हूं।’’

वार्नर ने कई बार बायो सिक्योर बबल के थकान की बात की है और गलत समय में ग्रोइन की चोट के बावजूद वार्नर इससे अधिक निराश नहीं है क्योंकि उन्हें अपने परिवार के साथ समय बिताने का मौका मिला जिसमें उनके छोटे बच्चे भी शामिल हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ये दुर्भाग्यशाली था कि मैं चोटिल हो गया लेकिन मैं हमेशा खाली समय चाहता था। मेरी स्थिति की बात करूं तो तीन बच्चे और पत्नी को काफी समय तक नहीं देखने के कारण इसमें दिमाग लगाने की जरूरत नहीं है कि ब्रेक की जरूरत थी। अगर हम बिग बैश लीग में नहीं खेलेंगे तो हमें सीरीज के अंत में कुछ हफ्तों का ब्रेक मिलेगा और फिर जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में जाना होगा।’’