टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने अपनी आईपीएल फॉर्म को ऑस्ट्रेलिया में भी जारी रखा है. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में खेले गए पहले वनडे मैच में उन्होंने 90 रन की शानदार पारी खेलकर टीम इंडिया की उम्मीदों को बनाए रखा था. लेकिन उनके आउट होते ही भारत की पहले वनडे में हार निश्चित हो गई.Also Read - गुजरात टाइटन्स टीम के लिए सफल रही है हार्दिक पांड्या की कप्तानी : विक्रम सोलंकी

हालांकि पांड्या ने इस मैच में अपना करियर बेस्ट स्कोर जरूर अपने नाम कर लिया. इससे पहले वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर 83 रन था, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ही खिलाफ साल 2017 में चेन्नेई के मैदान पर बनाया था. Also Read - प्लेऑफ से पहले गुजरात टाइटंस की शर्मनाक हार, कप्तान हार्दिक पंड्या को मिला बड़ा सबक

आज खेले जा रहे इस मैच में हार्दिक जब बैटिंग के लिए क्रीज पर आए थे, तब टीम इंडिया की हालत बिल्कुल पतली थी. भारत ने स्कोरबोर्ड पर तब 101 रन ही जोड़े थे और (KL Rahul) केएल राहुल (12) में उसने अपना चौथा विकेट गंवा दिया था, जबकि पारी का अभी 14वां ओवर ही फेंका जा रहा था. यहां से टीम इंडिया को जीत के लिए 274 रन की और दरकार थी. Also Read - विराट ने लगाई हार्दिक की क्‍लास, जमकर की स्‍लेजिंग, मुंह छुपाते दिखे गुजरात के कप्‍तान

पांड्या ने शिखर धवन (Shikhar Dhawan) के साथ पारी को संभाला और एक छोर पर स्पिनर्स के खिलाफ जमकर हमला बोलना शुरू कर दिया. इससे दूसरे छोर पर खड़े धवन पर से भी दबाव कम हुआ और टीम इंडिया ने अपने मुश्किल लक्ष्य की ओर संभलकर आगे बढ़ना शुरू कर दिया. दोनों बल्लेबाजों ने 5वें विकेट के लिए 128 रन की साझेदारी निभाई. यहां एडम जाम्पा (Adam Zampa) की गेंद पर शिखर धवन (74) स्टार्क को कैच थमाकर पांड्या का साथ छोड़ गए.

इसके बाद बढ़ती रन रेट का दबाव भारत पर बढ़ने लगा और पांड्या ने एडम जाम्पा को लॉन्ग ऑन पर छक्का लगाने का प्रयास किया लेकिन गेंद सीमारेखा के पार नहीं पहुंच पाई और वहां खड़े मिशेल स्टार्क ने उनका आसान सा कैच पकड़कर पांड्या को पवेलियन की राह दिखा दी.