सीमित ओवरों में टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) इन दिनों नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में अपनी हैम्स्ट्रिंग इंजरी को दुरुस्त करने के लिए ‘स्ट्रेंथ एंड कंडिशनिंग’ ट्रेनिंग कर रहे हैं. इस ट्रेनिंग के बाद रोहित अपनी पूरी फिटनेस हासिल करने के बाद टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया रवाना होंगे. हाल ही में वह टेस्ट टीम में भी बतौर सलामी बल्लेबाज खेले थे. लेकिन ऑस्ट्रेलिया सीरीज में वह टीम की जरूरत के हिसाब से किसी भी स्थान पर खेलने को तैयार हैं. रोहित ने इसका फैसला टीम मैनेजमेंट पर छोड़ा है. Also Read - VVS Laxman ने Virat Kohli की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले-तब मुझे लगा था कि वह...

ऑस्ट्रेलिया में होने वाली टेस्ट सीरीज में इस बार कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पहले टेस्ट के बाद भारत लौट आएंगे. ऐसे में इस बार विराट की गैर मौजूदगी में टेस्ट टीम उपकप्तान अंजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा के साथ रोहित से बड़ी भूमिका की उम्मीद है. Also Read - IND vs AUS 2020/ 21 Dream11 Team Prediction: पहले T20 में ऐसा हो सकता है भारत-ऑस्ट्रेलिया का Playing XI

इस 33 वर्षीय बल्लेबाज ने पीटीआई को बताया, ‘मैं आपको वही कहूंगा जो सभी को कह रहा हूं. जहां भी टीम चाहती है, मैं वहां बैटिंग के लिए तैयार हूं. लेकिन मैं यह नहीं जानता कि वे बतौर ओपनर मेरा रोल बदलेंगे या नहीं.’ रोहित का मानना है कि वह जब अपनी स्ट्रेंथ एवं कंडिशनिंग ट्रेनिंग के बाद ऑस्ट्रेलिया पहुंचेंगे तब तक टीम मैनेजमेंट उनका रोल तय कर चुका होगा. रोहित को आईपीएल के दौरान हैम्स्ट्रिंग चोट लग गई थी. Also Read - ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ब्रेट ली ने तीसरे वनडे में कमिंस को आराम देने के फैसले पर सवाल उठाए

इस बल्लेबाज ने कहा, ‘एक बार वहां पहुंच जाऊं, फिर मुझे मेरा रोल क्लियर हो जाएगा. टीम जिस भी नंबर चाहेगी मैं वहां बैटिंग के लिए तैयार रहूंगा.’ शॉर्ट बॉल के खिलाफ बेहतरीन पुल और हुक मारने वाले इस बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया में उछाल लेती पिचों के सवाल पर कहा कि वहां बाउंस कभी इतना बड़ा कारक नहीं होता, जितना इसे बताया जाता है.

बाउंस के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘हम उछाल की बात करते हैं, पर्थ को छोड़कर, पिछले कुछ वर्षों में अन्य मैदानों (एडिलेड, एमसीजी, एससीजी) पर मुझे नहीं लगता कि इतना ज्यादा उछाल है.’ उन्होंने कहा कि अब मुझे खासतौर से ओपनिंग करते वक्त अपने कट और पुल शॉट नहीं खेलने के बारे में सोचना होगा. जितना संभव हो मुझे ‘वी और स्ट्रेट शॉट खेलने पर फोकस करना होगा.’

इनपुट: पीटीआई