विराट कोहली (Virat Kohli) के भारत लौटने के बाद बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Troph) में बाकी बची सीरीज के लिए कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने टीम की कमान संभाल ली है. शनिवार को टीम इंडिया रहाणे के नेतृत्व में बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच में उतरेगी. इस मैच की पूर्व संध्या पर रहाणे ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया भले ही मानसिक खेल खेलता रहे लेकिन उनका और उनकी टीम का फोकस अपनी टीम पर रहेगा. Also Read - India vs Australia: देखें VIDEO- भारत की जीत का वह ऐतिहासिक लम्हा, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने किया शेयर

दरअसल मैच से पहले कंगारू टीम के कोच जस्चिन लैंगर (Justin Langer) ने बयान दिया है कि टीम इंडिया अगर दबाव में रहेगी तो उन्हें खुशी होगी. उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली की गैर-मौजूदगी में कप्तानी कर रहे अजिंक्य रहाणे पर वह अतिरिक्त दबाव बनाने की कोशिश करेंगे.’ Also Read - IND vs AUS: कोच Ravi Shastri ने बताया- विदेशों में Rishabh Pant को क्यों देते हैं मौका

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान रहाणे ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया दिमागी खेल खेलने में माहिर है. उन्हें वह खेलने दीजिए. हम अपने खेल पर फोकस करेंगे. हम अपने खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई करेंगे.’ Also Read - IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया को गाबा पर गुरूर था, भारत ने यूं किया चकनाचूर

32 वर्षीय रहाणे ने कहा, ‘भारत की कप्तानी करना मेरे लिए फख्र की बात है. यह शानदार मौका है और जिम्मेदारी भी लेकिन में कोई दबाव नहीं लेना चाहता. इस वक्त मेरा काम टीम का साथ देना है. फोकस मुझ पर नहीं, टीम पर है और हम एक टीम के रूप में अच्छा खेलना चाहते हैं.’

शुभमन गिल टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने जा रहे हैं और रहाणे ने कहा कि वह उन पर और मयंक अग्रवाल पर कोई दबाव नहीं बनाना चाहते. उन्होंने कहा, ‘सलामी बल्लेबाजों की भूमिका अहम होती है. मैं उन पर कोई दबाव नहीं बनाना चाहता. मैं उन्हें स्वाभाविक खेल खेलने की आजादी देना चाहता हूं. शुरुआत में साझेदारी बनने से बाद में आने वाले बल्लेबाजों को आसानी हो जाती है.’

इनपुट : भाषा