टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) की विकेटकीपिंग हमेशा ही सुर्खियों में रहते है. पंत विकेट के पीछे अक्सर स्टंप्स लेने में या कैच पकड़ने में गलती जो कर जाते हैं. लेकिन इस बार वह विकेट के पीछे लगातार बोलते रहने के लिए निशाने पर हैं.Also Read - भारतीय क्रिकेट को नई दिशा देंगे Rahul Dravid, कोचिंग से ज्यादा मैन मैनेजमेंट पर देंगे ध्यान: Shane Warne

ऑस्ट्रेलिया के दो पूर्व खिलाड़ी मार्क वॉ (Mark Waugh) और शेन वॉर्न (Shane Warne) ने पंत पर आरोप लगाया है कि वह विकेट के पीछे लगतार बात करते रहते हैं, जिससे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को एकाग्रता बनाने में दिक्कत होती है. मार्क वॉ (Mark Waugh) ने कहा कि पंत को कम से कम बॉलर के बॉल डालने के दौरान अपनी जुबान बंद रखनी चाहिए. Also Read - T20 के युग में Virat Kohli ने टेस्ट क्रिकेट में जो जोर लगाया, उसके लिए उन्हें सलाम: Shane Warne

दरअसल यह वाक्या तब घटा, जब चायकाल से कुछ मिनट पहले अपना पहला मैच खेल रहे वॉशिंग्टन सुंदर (Washington Sundar) बॉलिंग कर रहे थे. इस दौरान पंत इस युवा खिलाड़ी का उत्साह बनाने के लिए लगातार बोल रहे थे. इससे बल्लेबाजी पर मौजूद मैथ्यू वेड (Matthew Wade) अपनी एकाग्रता नहीं बना पा रहे थे. ऐसे में उन्होंने एक मौके पर बल्लेबाजी करने से मना कर दिया और कहा कि जब तब पंत बोलना बंद नहीं करेंगे, वह अपना बैटिंग गार्ड नहीं लेंगे. Also Read - Rohit Sharma को बनाया जाए टेस्ट कप्तान लेकिन उनकी फिटनेस गंभीर मसला: Ravi Shastri

इसके बाद चैनल 7 पर कॉमेंट्री कर रहे मार्क वॉ और शेन वॉर्न ने इस पर चर्चा शुरू कर दी. वॉ ने कहा, ‘विकेटकीपर के बात करते रहने से मुझे समस्या नहीं है लेकिन यह तब नहीं होना चाहिए, जब बॉलर बॉलिंग फेंकने के लिए बिल्कुल तैयार हो. तब आपको जुबान बंद (ZIP IT) रखनी ही चाहिए.’ इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि ऐसे में अंपायर को नियंत्रण लेना चाहिए और पंत को बोलना चाहिए कि वह ऐसा न करें.

इसके जवाब में शेन वॉर्न ने कहा, ‘मैं कुछ हद तक आपसे सहमत हूं जन (वॉ) मुझे इसमें कोई समस्या नहीं है कि पंत के चेहरे पर मुस्कान है और वह खिलाड़ियों को प्रोत्साहित कर रहे हैं. बल्लेबाज के आसपास खड़े खिलाड़ियों को वह हंसा रहे हैं. लेकिन जब बॉलर ने बॉलिंग के लिए आना शुरू कर दिया है, तब चुप रहना ही चाहिए, जिससे बल्लेबाज अपनी एकाग्रता बना सके.’