ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में भारत 0-2 से पीछे है। पर्थ और ब्रिस्बेन की पिचों पर भारतीय गेंदबाज जूझते नजर आए। लगातार दो बार 300 के स्कोर के बावजूद टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में जीत का खाता नहीं खोल पाई है।

बता दे कि मेलबर्न की पिच का मिजाज अलग माना जाता है। टीम इंडिया के सीरीज में बने रहने के लिए मेलबर्न में हर हाल में जीत जरूरी है। मगर जीत की सूरत फिलहाल आसान नहीं नजर आती। रविवार को मेलबर्न में होने वाले तीसरे अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट मैच के लिये भी ऑस्ट्रेलियाई टीम में बनाए रखा गया है। हेस्टिंग्स साथी तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड के स्थान पर टीम में आए थे, जिन्हें घरेलू अंतरराष्ट्रीय सत्र के बाकी मैचों से विश्राम दिया गया है। यह भी –ऑस्ट्रेलिया ने भारत को सात विकेट से हराया, देखे मैच के Highlights

ज्ञात हो कि रोहित के लगातार दो शतक और टीम इंडिया का स्कोर दो बार लगातार 300 के पार। फिर भी दोनों ही बार मेजबान टीम के लिए लक्ष्य छोटा साबित हुआ। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी मानते हैं कि शायद स्कोरबोर्ड पर और 30-40 रनों की जरूरत है। यानी टीम इंडिया को अपनी कमियों पर ध्यान देने के अलावा अपनी बल्लेबाजी को भी दुरुस्त करने की जरूरत होगी। यह भी पढ़े-रोहित शर्मा का सीरीज में लगातार दूसरा शतक

ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच डेरेन लीमन ने कहा, ‘जोश ने इस सत्र में सभी छह टेस्ट मैच खेले, इसलिए उन्हें विश्राम देने का फैसला किया गया ताकि वह न्यू जीलैंड दौरे से पहले शारीरिक और मानसिक तौर पर तरोताजा रहें।’ आखिरी दो वनडे मैचों के लिये ऑस्ट्रेलियाई टीम की घोषणा मेलबर्न में मैच के बाद की जाएगी। माना जाता है कि मेलबर्न की पिच भारतीय स्पिनरों की ज्यादा मदद करे और टीम इंडिया पहले से बेहतर अंदाज में पेश आए।