भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में अब एक और नया विवाद पैदा हो गया है। पांच भारतीय खिलाड़ियों के बायो सिक्योर बबल प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने की वजह से आइसोलेशन में जाने के बाद अब खबर आ रही है कि टीम इंडिया चौथे टेस्ट मैच के लिए ब्रिसबेन जाकर फिर से क्वारेंटीन होने की बात से बेहद नाराज है। Also Read - India vs Australia: देखें VIDEO- भारत की जीत का वह ऐतिहासिक लम्हा, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने किया शेयर

दरअसल सीरीज का तीसरा टेस्ट 7 जनवरी से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाना है, चूंकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया में बढ़ने कोरोना वायरस मामलों के बावजूद सिडनी में मैच कराने की अपनी योजना को लागू करने का फैसला किया है। Also Read - IND vs AUS: कोच Ravi Shastri ने बताया- विदेशों में Rishabh Pant को क्यों देते हैं मौका

सोमवार को दोनों टीमें मेलबर्न से न्यू साउथ वेल्स के लिए रवाना होंगी, जहां कोविड-19 वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बाकी राज्यों की तरह क्वींसलैंड ने भी न्यू साउथ वेल्स के साथ अपना बॉर्डर सील कर दिया है हालांकि बोर्ड से बातचीत के बाद खिलाड़ियों को दोनों राज्यों के बीच यात्रा कहने की अनुमति दी गई है। Also Read - IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया को गाबा पर गुरूर था, भारत ने यूं किया चकनाचूर

लेकिन मुश्किल ये है कि जब खिलाड़ी चौथे टेस्ट के लिए सिडनी से ब्रिसबेन लौटेंगे तो उन्हें सख्त क्वारेंटीन में रहना होगा जिससे भारतीय टीम मैनेजमेंज खास प्रभावित नहीं है। ऑस्ट्रेलियाई मीडिया की खबरों की मानें तो कई भारतीय खिलाड़ियों ने क्वारेंटीन की वजह से चौथे मैच के लिए ब्रिसबेन जाने से इंकार कर दिया है।

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलियाई दौरे की शुरुआत में 14 दिन का अनिवार्य क्वारेंटीन पूरा किया था, हालांकि इस दौरान खिलाड़ियों को अलग अलग समूह बनाकर अभ्यास करने की इजाजत मिली हुई थी। लेकिन अब खिलाड़ी फिर से उन्हीं हालातों में लौटने की संभावना से डरे हुए हैं।

क्रिकबज से बातचीत में टीम से जुड़े एक सूत्र ने कहा, “अगर आप देखें तो, हम सिडनी आने से बहले 14 दिन दुबई में क्वारेंटीन थी और फिर अगले 14 दिन (सिडनी में) फिर से क्वारेंटीन हुए। इसका मतलब है कि हम लगभग एक महीने तक बबल में थे। अब दौरे के आखिर में हम फिर से क्वारेंटीन नहीं होना चाहते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “अगर इसका मतलब फिर से होटल में बंद रहना है तो हम ब्रिसबेन जाने के लिए उत्सुक नहीं हैं। इसके बजाय हम किसी और शहर में रहना पसंद करेंगे, वहां दोनों टेस्ट मैच खेलकर, सीरीज खत्म कर घर लौटना चाहेंगे।”