Virat-Kohli-of-India-bats1

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज़ विराट कोहली ने कप्तानी करते हुए अपने पहली ही टेस्ट मैच में वो कारनामा कर दिया जो भारत में सिर्फ दो ही कप्तान कर सके थे। कोहली ने बेहद कठिन स्थिति में शतक जड़ा और टीम इंडिया की पारी को मज़बूती प्रदान की। कोहली के शतकीय पारी की बदौलत भारत ने ४ विकेट गवा कर ३४२ रन्स ठोक दिए। भारत अब भी ऑस्ट्रेलिया के स्कोर से १७५ रस पीछे है।

पुजारा तीसरे विकेट के तौर पर आउट हुए। विदेश में अपना अब तक दूसरा बड़ा योग बनाने वाले पुजारा को ऑफ स्पिन गेंदबाज नेथन लियोन ने बोल्ड किया। पुजारा ने 135 गेंदों का सामना कर नौ चौके लगाए। अपनी इस पारी के दौरान पुजारा ने कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 81 रन जोड़े और प्वाइंट तथा मिडविकेट एरिया में कई खूबसूरत स्टोक्स लगाए।

पुजारा के अलावा भारत ने विजय और शिखर धवन (25) के विकेट गंवाए हैं। धवन 30 के कुल योग पर रायन हैरिस की गेंद पर बोल्ड हुए। धवन ने 24 गेंदों का सामना कर पांच झन्नाटेदार चौके लगाए। विजय का विकेट भोजनकाल से ठीक पहले 111 रनों के कुल योग पर गिरा।

विजय ने 88 गेंदों का सामना कर तीन चौके और दो छक्के लगाए। विजय ने अपनी इस प्रभावशाली पारी के दौरान धवन के साथ 30 और पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 81 रनों की साझेदारी की। विजय का विकेट मिशेल जानसन ने लिया।

भोजनकाल से ठीक पहले विजय के आउट होने के बाद विकेट पर पुजारा का साथ देने आए कोहली को जानसन का सामना करना था। जानसन ने पहली ही गेंद पर बाउंसर के साथ कोहली का स्वागत किया।

गेंद कोहली को छकाते हुए उनके हेलमेट से टकराई। कोहली सहम गए। आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भागकर कोहली के पास पहुंचे। जानसन सबसे पहले पहुंचे। जानसन काफी घबराए हुए थे लेकिन जब उन्होंने देखा कि गेंद ने कोहली को कोई नुकसान नहीं पहुंचाई है तो उन्होंने राहत महसूस की।

कप्तान माइकल क्लार्क ने जानसन की पीठ थपथपाई। वह भारतीय कप्तान पर दबाव बनाने के लिए अपने गेंदबाज को बधाई देना चाहते थे लेकिन क्लार्क को बाउंसर से होने वाले खतरे का पूरा आभास था। कारण यह था कि कुछ दिन पहले ही क्लार्क ने बाउंसर के कारण ही अपना एक अच्छा साथी गंवा दिया था।

आस्ट्रेलियाई टीम के टेस्ट बल्लेबाज फिलिप ह्यूज 25 नवम्बर को एक घरेलू मैच के दौरान बाउंसर सिर पर लगने के कारण चोटिल हुए थे। अस्पताल में उनका ऑपरेशन किया गया था लेकिन 27 नवम्बर को उन्होंने अंतिम सांस ली थी।

ह्यूज का अंतिम संस्कार तीन दिसम्बर को किया गया था और कोहली ने उस सभा में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया था। सभी को बाउंसर से होने वाले खतरे का आभास था और यही सोचकर आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कोहली की ओर भागे थे। सबने राहत महसूस की कि कोहली ठीक हैं और एक पल के बाद बल्लेबाजी के लिए तैयार हो चुके हैं।

मैच के दूसरे दिन बुधवार को बारिश के कारण सिर्फ 30.4 ओवरों का खेल सम्भव हो सका था। इसी कारण तीसरे दिन का खेल निर्धारित समय से आधा घंटा पहला शुरू किया गया।

इससे पहले, आस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी बुधवार के स्कोर सात विकेट पर 517 रनों पर घोषित कर दी। आस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वार्नर (145), स्टीवन स्मिथ (नाबाद 162) और कप्तान माइकल क्लार्क (128) ने शतक लगाए।

भारत की ओर से मोहम्मद समी, वरुण एरॉन और अपना पहला टेस्ट खेल रहे कर्ण शर्मा ने दो-दो विकेट लिए। इशांत शर्मा को भी एक सफलता मिली।