पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर टॉम मूडी (Tom Moody) ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को सलाह दी है कि वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में खुद गेंदबाजी में हाथ आजमाएं. पहले वनडे में भारत को 66 रन से हार का सामना करना पड़ा. मैच के बाद कप्तान विराट ने कहा कि उनकी टीम में कंगारू टीम की तरह स्टोइनिस (Marcus Stoinis) और मैक्सवेल (Glenn Maxwell) जैसे खिलाड़ियों की कमी है, जो बैटिंग और बॉलिंग दोनों क्षेत्रों में टीम की मदद कर सकें.Also Read - #RedTurnsBlue दिल्ली के खिलाफ मैच से पहले मुंबई इंडियंस के समर्थन में उतरी RCB

टीम इंडिया में इस समय सिर्फ रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ही ऐसे खिलाड़ी हैं, जो ऑलराउंडर की भूमिका में खेल रहे हैं. 27 वर्षीय हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) अपनी पीठ की चोट से अभी इतना नहीं उबर पाए हैं कि वह दोबारा बॉलिंग कर सकें. वह बतौर बल्लेबाज टीम में खेल रहे हैं लेकिन वह अपनी भूमिका को पूरी तरह साबित कर रहे हैं. Also Read - कप्तानी छोड़ने के बाद भी भारत के लिए एशिया कप और टी20 विश्व कप जीतना चाहते हैं विराट कोहली

सिडनी में खेले गए पहले वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने 374 रन का पहाड़ सा लक्ष्य खड़ा किया था. भारत के पास बॉलिंग के 5 ही विकल्प थे और मैच के बाद विराट ने इस कमी को इतने बड़े स्कोर का कारण बताया. Also Read - मुंबई इंडियंस के टिम डेविड ने ऑलटाइम टी20 सर्वश्रेष्ठ XI में कप्तान रोहित शर्मा को नहीं दी जगह

टॉम मूडी ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बात करते हुए कहा, ‘टीम इंडिया की तुलना में ऑस्ट्रेलिया अधिक संतुलित टीम दिख रही है, जिसके प्लेइंग XI में दो ऐसे खिलाड़ी हैं, जो छठे बॉलर की भूमिका निभा सकते हैं.’

इस दिग्गज कोच ने कहा, ‘कप्तान विराट कोहली को चाहिए कि वह टीम की मदद के लिए बॉलिंग में एक अतिरिक्त विकल्प के लिए खुद बॉलिंग में हाथ आजमाएं. यह देखना रोचक होगा कि वह इसे कैसे मैनेज करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘विराट के पास जो अपनी थोड़ी बहुत मीडियम (पेस) बॉलिंग है, उसे आजमाना चाहिए.’ मूडी ने कहा कि अगर दोनों टीमों की तुलना की जाए तो ऑस्ट्रेलिया बैटिंग और बॉलिंग दोनों ही क्षेत्रों में भारत पर हावी दिख रहा है. उसकी बल्लेबाजी में ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जो मैच विनिंग पारियां खेल सकते हैं, जबकि भारत अभी अपने बल्लेबाजी क्रम को सेट करने में ही जूझ रहा है. उनका बॉलिंग लाइनअप भी सेट है.