India vs Australia Pink Ball Test: यूं तो साल 2020 सभी के लिए बुरा ही रहा है. सभी एक मन से यही चाहते हैं कि यह साल जल्दी से विदा ले और नया साल 2021 जल्दी से ढेर सारी खुशियां लेकर आए. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohil) भी फीलिंग भी इससे जुदा नहीं है. उनके क्रिकेट करियर के लिए भी यह साल फीका ही साबित हुआ है. इस साल भारतीय कप्तान इंटरनेशनल क्रिकेट में कोई शतक नहीं जमा पाए.Also Read - IPL 2022 Players Retention List RCB: विराट कोहली को लगा चूना, बैंगलोर की टीम में ये तीन नाम

इस साल कोविड- 19 (Covid- 19 Virus) वायरस के चलते करीब 6 महीने तो भारत समेत दुनिया भर की क्रिकेट पर ब्रेक ही लगा रहा. लेकिन तीनों फॉर्मेट में भारत और कप्तान विराट कोहली ने जितने भी मैच खेले वह किसी में भी कोई शतक नहीं जमा पाए. अगस्त 2008 में अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत करने वाले विराट कोहली का साल 2009 से ही करियर ग्राफ देखें तो वह हर साल कम से कम एक शतक तो जरूर बनाते आए हैं. Also Read - IPL 2022: नई फ्रेंचाइजी लखनऊ की कप्तानी संभाल सकते हैं केएल राहुल

लेकिन यह पहला ऐसा साल है, जब विराट के बल्ले से यह कमाल नहीं हो पाया. इस साल उन्होंने 3 टेस्ट मैच खेले, दो न्यूजीलैंड के खिलाफ और एक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ. इन 6 पारियों में वह सिर्फ एक हाफ सेंचुरी ही जमा पाए, जो उन्होंने एडिलेड में खेले जा रहे टेस्ट मैच में बनाई. Also Read - Virat होते तो नतीजा कुछ और ही होता, इरफान पठान ने Rahane की कप्‍तानी पर उठाए सवाल

विराट के बल्ले से आखिरी शतक जब निकला था, तो वह साल 2019 में पिंक बॉल टेस्ट में ही निकला था, जब उन्होंने कोलकाता के ईडेन गार्डेंस मैदान पर बांग्लादेश के खिलाफ 136 रन बनाए थे. वैसे भारत को इस साल अभी एक टेस्ट मैच और खेलना है. लेकिन कप्तान विराट कोहली इस टेस्ट मैच में नहीं खेलेंगे. वह पहले टेस्ट मैच के बाद पितृत्व अवकाश पर वापस भारत लौट रहे हैं.