भारतीय टीम के तेज गेंदबाजों ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए बांग्लादेश के बल्लेबाजों को इंदौर टेस्ट मैच के पहले दिन खूब परेशान किया। होल्कर स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में पहले दिन के पहले सेशन का खेल खत्म होने तक मेहमान टीम ने 63 रन बनाकर अपने तीन विकेट खो दिए हैं।Also Read - पिछले दो सालों में एक मजबूत टीम के रूप में उभरी है विराट कोहली की टीम इंडिया: हाशिम आमला

Also Read - South Africa vs India, 1st Test: लुंगी एनगिडी के छह विकेट हॉल के आगे 327 रन पर ढेर हुई भारतीय टीम

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने वाली बांग्लादेश के बल्लेबाजों को ईशांत शर्मा और उमेश यादव की गेंदों को समझने में ही मुश्किल हो रही थी। तीन ओवर तक बांग्लादेश का खाता भी नहीं खुला था। Also Read - रंगभेद विरोधी आइकन आर्कबिशप डेसमंड टूटू के सम्मान में काली पट्टी पहनकर मैदान पर उतरे दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी

शादमान इस्लाम और इमरूल काएस की सलामी जोड़ी को गेंद को बल्ले के बीचों-बीच लेने में ही परेशानी हो रही थी। इसी जद्दोजहद में यादव ने काएस को पहली स्लिप पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच करा भारत को पहली सफलता दिलाई। कायेस ने 18 गेंदों छह रन बनाए और वह टीम के 12 रन के कुल स्कोर पर आउट हुए।

पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम का ऐलान, कैमरून बैनक्रॉफ्ट की वापसी

ईशांत ने भी अगले ओवर में अपनी मेहनत को सार्थक किया। उन्होंने शादमान को विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। इस समय भी टीम का स्कोर 12 था और शादमान भी छह रन बनाकर पवेलियन लौट रहे थे। उन्होंने 24 गेंदों का सामना किया।

कप्तान मोमिनुल हक और मोहम्मद मिथुन ने की जोड़ी के सामने टीम को खराब शुरुआत से बाहर निकालने की जिम्मेदारी थी, लेकिन यह जोड़ी सिर्फ 19 रन ही जोड़ सकी। विराट कोहली ने गेंदबाजी में बदलाव किया और मोहम्मद शमी ने 31 के कुल स्कोर पर मोहम्मद मिथुन को आउट कर बांग्लादेश को तीसरा झटका दिया। मिथुन ने 36 गेंदों पर 12 रन बनाए।

यादव ने बांग्लादेश के मुख्य बल्लेबाज मुश्फीकुर रहीम को भी पवेलियन भेज दिया था लेकिन कप्तान कोहली उनका कैच पकड़ने से चूक गए। लंच तक कप्तान मोमिनुल 22 और रहीम 14 रन बनाकर खेल रहे हैं।