भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने पिंक बॉल (Pink Ball) से खेले गए अपने पहले डे-नाइट टेस्ट (Day-Night Test) मैच में बांग्लादेश (Bangladesh) को पारी और 46 रन से हराकर लगातार रिकॉर्ड 12वीं घरेलू टेस्ट सीरीज अपने नाम की. Also Read - मस्‍ती के मूड में विराट कोहली ने की गंभीर बात, 'हमारी स्‍माइल नकली जरूर है लेकिन....'

पिंक बॉल टेस्ट में इशांत, उमेश और शमी की पेस ‘तिकड़ी’ का रहा बोलबाला, बना डाले ये रिकॉर्ड Also Read - कोरोना वायरस: लॉकडाउन के बीच काफी कोजी अंदाज में दिखें विराट-अनुष्का

दो मैचों की सीरीज में मेहमान टीम ने आसानी से घुटने टेक दिए. दोनों टेस्ट तीसरे दिन ही खत्म हो गए. इस सीरीज जीत में भारत की ओर से जिन 5 खिलाड़ियों ने अहम भूमिका निभाई उनमें तेज गेंदबाज इशांत शर्मा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी के अलावा ओपनर मयंक अग्रवाल और कप्तान विराट कोहली का अहम योगदान रहा. Also Read - विश्व कप 2011 फाइनल पर किए ट्वीट को लेकर ट्रोल हुए गौतम गंभीर

इशांत की रफ्तार से सहमे ‘बांग्ला टाइगर्स’

अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने अपनी कहर बरपाती गेंदों से पहली बार दूधिया रोशनी में खेले गए टेस्ट मैच में कुल 9 विकेट अपने नाम किए. उन्होंने पहली पारी में 5 जबकि दूसरी पारी में 4 विकेट अपने नाम किए. इंदौर टेस्ट में इशांत ने 3 विकेट अपने नाम किए थे.

Pink Ball Test: लगातार 4 टेस्ट पारी के अंतर से जीत विराट कोहली ने रचा इतिहास

इशांत ने सीरीज में 48 ओवर की गेंदबाजी की जिसमें 15 ओवर मेडन फेंके और कुल 129 रन लुटाए. इस दौरान उन्होंने 10.75 की औसत से कुल 12 विकेट झटके. इशांत की बेहतरीन गेंदबाजी के कारण उन्हें मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुना गया.

उमेश ने डे-नाइट टेस्ट की दूसरी पारी में हासिल की 5 विकेट हॉल

32 वर्षीय तेज गेंदबाज उमेश यादव (Umesh Yadav) ने पिंक बॉल से दूसरी पारी में 5 विकेट अपने नाम किए जबकि पहली पारी में उन्होंने 3 विकेट झटके थे. इंदौर टेस्ट में इस गेंदबाज ने 4 विकेट हासिल किए थे. इस तरह उन्होंने भी इशांत की तरह कुल 12 विकेट निकाले.

उमेश ने दो मैचों की सीरीज में 49.4 ओवर की गेंदबाजी की जिसमें 7 ओवर मेडन रखते हुए 180 रन लुटाए. इस दौरान उनकी गेंदबाजी औसत 15.00 रही.

इंदौर टेस्ट में शमी के ‘चौके’ ने दिलाई जीत

मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) पिछले कुछ समय से बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे हैं. दूसरे टेस्ट मैच में शमी को 2 विकेट मिले लेकिन इंदौर टेस्ट मैच में उन्होंने अपनी स्विंग और तेजी से बांग्लादेशी बल्लेबाजों को खूब परेशान किया था.

शमी ने इंदौर टेस्ट की पहली पारी में 3 जबकि दूसरी पारी में 4 विकेट अपने नाम किए थे. उन्होंने सीरीज में 47.3 ओवर की गेंदबाजी में 15.11 के औसत से गेंदबाजी की और कुल 9 विकेट अपने नाम किए. अपनी गेंदबाजी के दौरान शमी ने 14 ओवर मेडन फेंके.

मयंक अग्रवाल ने जड़ा दोहरा शतक

टीम इंडिया के नए ओपनर मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने इंदौर टेस्ट की पहली पारी में 330 गेंदों पर 243 रन की पारी खेल टीम इंडिया को मजबूती प्रदान की. कोलकाता में मयंक का बल्ला कुछ खास कमाल नहीं कर सका. वह 14 रन बनाकर पवेलियन लौट गए.

भारत ने Day-Night टेस्ट में बांग्लादेश को पारी और 46 रन से रौंदा, सीरीज पर 2-0 सेे कब्जा

इस सीरीज की दो पारियों में मयंक ने 128.50 की औसत से सर्वाधिक 257 रन बनाए. मयंक ने इस दौरान 31 चौके और 8 छक्के लगाए.

किंग कोहली की रिकॉर्ड शतकीय पारी

विराट कोहली (Virat Kohli) ने कोलकाता टेस्ट मैच की पहली पारी में 136 रन की पारी खेली. कोहली के टेस्ट करियर का ये 27वां जबकि इंटरनेशनल क्रिकेट का 70 शतक था. बतौर टेस्ट कप्तान कोहली ने 20वां शतक लगाया. इस दौरान उन्होंने रिकी पोंटिंग (19) को पीछे छोड़ा. इस सीरीज में कोहली सबसे तेजी से 5,000 रन बनाने वाले टेस्ट कप्तान बने थे. इंदौर में कोहली खाता भी नहीं खोल सके थे.