मोहाली (पंजाब), 28 नवंबर| भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों ने कमाल का प्रदर्शन किया। पहली पारी में भारतीय मध्यक्रम बिखर जाने के बाद आर अश्विन, रवींद्र जडेजा और जयंत यादव ने शानदार बल्लेबाजी की और भारत को 417 रन के स्कोर तक लेकर गए। इनकी बल्लेबाजी की बदौलत भारतीय टीम एक मजबूत स्कोर तक पहुँची और इंग्लैंड पर एक अच्छी बढ़त ले सकी। पहली पारी में भारत के 417 रनों में निचले क्रम में रवींद्र जडेजा (90), रविचन्द्रन अश्विन (72) और जयंत यादव (55) का योगदान दिया। निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए इन तीनों खिलाड़ियों ने अर्धशतक ठोंके और कई रिकॉर्ड भी अपने नाम किए। तो आइए आपको बताते हैं वो पाँच अनोखे रिकॉर्ड जो आज इन तीन पुछल्ले बल्लेबाजों ने बनाए… (यह भी पढेंः झोपड़ी में रहने वाले मज़दूर पिता को अब क्रिकेटर बेटा देगा डेढ़ करोड़ का आलीशान तोहफा)Also Read - खिलाड़ियों को समय-समय पर बायो बबल से आराम दिए जाने की जरूरत है: विराट कोहली

  • भारतीय टेस्ट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि सातवें क्रम से नीचे के तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक लगाए हों। वहीं टेस्ट क्रिकेट में यह कुल 14वां मौका है जब सातवें क्रम के नीचे के तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतकीय पारियां खेली हों।
  • इसके अलावा यह चौथा मौका था जब भारत ने 200 रनों से ज्यादा से स्कोर पर अपने छह विकेट गंवाने के बाद दोगुना स्कोर बनाया हो। भारत का पहली पारी में छठा विकेट 204 के कुल योग पर गिरा था।
  • इससे पहले भारत ने 1989-90 में हेमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी बार यह कारनामा किया था। भारत ने इस मैच में भी 204 रनों पर छह विकेट गंवा दिए थे और फिर उसके बाद 416 रन बनाए थे।
  • सातवें क्रम के नीच के बल्लेबाजों ने इस मैच में 230 रन बनाए हैं। इससे पहले दो ही बार ऐसा हुआ है जब सातवें क्रम के नीचे के बल्लेबाजों ने 200 से ज्यादा रन जोड़े हों। इससे पहले 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ 259 और 2013-14 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 259 रन बनाए थे।
  • भारत के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने पिछले एक दशक में इंग्लैंड के खिलाफ 21 टेस्ट मैचों में 24 बार 50 से अधिक का स्कोर किया है। 50 से ज्यादा स्कोर की 24 पारियों में से 12 तो पिछली दो श्रृंखलाओं में ही इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई हैं।

इसके अलावा भारत के दिग्गज ऑलराउंडर आर अश्विन ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। अश्विन ने मोहाली टेस्ट की पहली पारी में 72 रन बनाए और इसके साथ ही उन्होंने दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी कपिल देव की बराबरी कर ली। अश्विन ने इस अर्धशतकीय पारी की बदौलत किसी एक कैलेंडर वर्ष में 500 से अधिक रन और 50 से अधिक विकेट लेने का कारनामा कर दिखाया। कपिल के बाद ऐसा करने वाले वह भारत के एकमात्र खिलाड़ी हैं, जबकि दुनिया के 10वें खिलाड़ी। Also Read - रातों रात नहीं ढूंढ सकते हैं हार्दिक पांड्या का विकल्प; गेंदबाजी नहीं करने पर भी टीम में रहेंगे: विराट कोहली

Also Read - पूर्व इंग्लिश कप्तान ने इयोन मॉर्गन पर जताया भरोसा; कहा-वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से लय में लौटेंगे