श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत हासिल कर भारत पहुंची इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कोच मार्क बाउचर (Mark Butcher) का कहना है कि चोटिल रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया का स्पिन अटैक थोड़ा कमजोर होगा जो कि मेहमान टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।Also Read - 'इंग्लैंड ने डेढ़ घंटे में दस विकेट गंवाए, आप ऐसे मैच नहीं जीत सकते': एशेज हार के बाद भड़के एलेस्टर कुक

गौरतलब है कि श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के दौरान ऑफ स्पिन लसिथ इंबुलदेनिया (Lasith Embuldeniya) ने इंग्लिश बल्लेबाजों, खासकर कि सलामी बल्लेबाजों जैक क्राउंली और डॉमिनिक सिबली को काफी परेशान किया था। Also Read - होबार्ट टेस्ट में 146 रन से जीत हासिल कर ऑस्ट्रेलिया ने 4-0 से एशेज सीरीज जीती

बाउचर ने कहा, “इंबुलदेनिया एक क्वालिटी स्पिनर है और हमारे बल्लेबाजों को उसका सामना करन में मुश्किल हुई। इंग्लैड को जडेजा की गैरमौजूदगी से आराम मिलेगा। भारत के पास विश्व स्तरीय गेंदबाजी अटैक है लेकिन जडेजा के होने से उसमें अलग ही ताकत आती है।” Also Read - Australia vs England, 5th Test, Day 3: 124 पर ऑलआउट हुई इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया ने 146 रन से मैच जीता

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के दौरान अंगूठे पर गेंद लगने से चोटिल हुए टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर जडेजा को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के पहले दो मैचों से बाहर रखा गया है।

इंग्लैंड और भारत के बीच पहला टेस्ट 5 फरवरी से चेन्नई में खेला जाना है। वहां की पिच और हालातों के बारे में बाउचर ने कहा, “चेन्नई के हालात काफी हद तक वैसे ही हैं जैसे इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने श्रीलंका में देखे। इसलिए जिन्होंने श्रीलंका में सीरीज खेली है उन्हें खुद को ढालने में समय नहीं लगेगा।”

सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स जो कि श्रीलंका दौरे का हिस्सा नहीं थे भारत के खिलाफ सीरीज के लिए इंग्लैंड स्क्वाड में शामिल हैं। बाउचर का कहना है कि वो चेन्नई टेस्ट में क्राउली की जगह बर्न्स को सिबली के जोड़ीदार की जगह दी जाएगी।

कोच ने कहा, “बर्न्स और सिबली काफी समय से ये काम कर रहे हैं और पहले टेस्ट में उन्हें ही सलामी बल्लेबाजी करनी चाहिए। बाएं और दाएं हाथ का कॉम्बिनेशन अच्छा रहता है और इंग्लैंड उसी के साथ जाना चाहेगा। अगर उन दोनों को अच्छी शुरुआत मिलती है, बाकी बल्लेबाजों को भी आत्मविश्वास मिलेगा और इससे पूरे ड्रेसिंग रूम का रुख बदलेगा।”