इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच के दौरान अपने टेस्ट करियर का दूसरा गुलाबी गेंद का टेस्ट खेलने की तैयारी कर रहे भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने रविवार को कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट में गोधुली के समय बल्लेबाजी करते हुए ‘‘अतिरिक्त सतर्कता और एकाग्रता’’ दिखानी होगी।Also Read - ICC Test Rankings: Virat Kohli ने लगाई छलांग, Jasprit Bumrah की टॉप-10 में वापसी

चेन्नई में दूसरे टेस्ट में 161 रन की आक्रामक पारी खेलने वाले रोहित ने नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ भारत में हुए पहले डे-नाइट टेस्ट में खेले थे लेकिन तब उन्हें गोधुली के समय बल्लेबाजी नहीं करनी पड़ी थी। Also Read - IND vs SA, 1st ODI: बतौर वनडे कप्तान मैदान पर उतरे KL Rahul, सिर्फ भारतीय ही कर सके ऐसा

रोहित ने बुधवार से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट से पहले आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैंने अब तक टीम के अपने साथियों से ही सुना है कि यह दिमाग में रहता है। मैं बांग्लादेश के खिलाफ सिर्फ एक गुलाबी गेंद के टेस्ट में खेला हूं लेकिन उस समय (गोधुली) बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला जब सूरज ढलने वाला हो।’’ Also Read - Rohit Sharma टेस्ट में भी बेहतर कप्तान होंगे वह तीनों फॉर्मेट में नंबर 1 खिलाड़ी: Mohammad Azharuddin

उन्होंने कहा, ‘‘बेशक यह थोड़ा चुनौतीपूर्ण होता है, मौसम और रोशनी अचानक बदल जाते हैं। आपको अतिरिक्त सतर्क और एकाग्र रहना होता है, आपको स्वयं से बात करनी होती है। सभी बल्लेबाज इस तरह की चुनौती से वाकिफ हैं। हम बस इस स्थिति को ध्यान में रखने और इसके अनुसार खेलने की जरूरत है।’’

भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच 24 जनवरी से अहमदाबाद के सरदार पटेल स्टेडियम में खेला जाएगा।