इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में भारतीय गेंदबाजों ने 20 नो बॉल डालकर 12 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। इससे पहले भारतीय गेंदबाजों ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ अहमदाबाद टेस्ट में 20 नो-बॉल डाली थी। Also Read - India vs England, 4th Test: जानें कब और कहां देखें भारत-इंग्लैंड मैच की LIVE Streaming और LIVE टेलीकास्ट

हालांकि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक नो बॉल डालने का रिकॉर्ड श्रीलंकाई गेंदबाजों के नाम है, जिन्होंने 2014 में चटगांव में दूसरे टेस्ट में बांग्लादेश की पारी के दौरान सर्वाधिक 21 गेंद नो बॉल डाले थे। Also Read - ICC 'Player of the Month': भारत के रविचंद्रन अश्विन समेत जो रूट और कायल मेयर्स को मिला नॉमिनेशन

भारत को इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे सीरीज के पहले टेस्ट मैच में कुल छह गेंदबाजों का इस्तेमाल किया। पहली पारी में डाले 190.1 ओवर में इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन, शाहबाज नदीम, वाशिंगटन सुंदर के साथ रोहित शर्मा ने गेंदबाजी की। बुमराह ने सर्वाधिक सात नो बॉल डाली, वहीं नदीम ने 6, इशांत ने 5 और अश्विन ने दो नो बॉलें डाली। Also Read - India vs England: जो रूट चाहते हैं भारतीय स्पिनरों का बहादुरी से सामना करें इंग्लिश बल्लेबाज

गौरतलब है कि इशांत 2009 में अहमदाबाद में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए उस मैच का भी हिस्सा थे, जहां भारतीय गेंदबाजों ने 20 नो बॉल डाली थी। इशांत ने उस मैच में कुल तीन नो बॉल डाली थी। वहीं पूर्व भारतीय गेंदबाज जहीर खान ने 9 और अमित मिश्रा ने 8 नो बॉल कराई थी।

इशांत के बचपन के कोच श्रवण कुमार ने नो बॉल के पीछे कोविड-19 महामारी के कारण अभ्यास की कमी को बताया। इशांत साइड स्ट्रेन से उबरने के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में लौटे हैं। चोट के कारण वो ऑस्ट्रेलिया दौरे पर नहीं गए थे।