इंग्‍लैंड के खिलाफ (India vs England) पांच फरवरी से शुरू हो रही टेस्‍ट सीरीज के साथ ही भारत में कोरोना काल आने के बाद अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत होने जा रही है. बीते साल साउथ अफ्रीका का भारत दौरा कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण बीच में ही रद्द कर दिया गया था. अब चेन्‍नई में होने वाले टेस्‍ट मैच के साथ भारत फैन्‍स की मौजूदगी के साथ क्रिकेट होना भी संभव नजर आ रहा है.Also Read - COVID 19 Booster Dose के नाम पर हो रही है ठगी, एक मैसेज चुटकियों में कर सकता है आपका अकाउंट खाली

कोविड-19 को लेकर नए दिशानिर्देश जारी करते हुए खेल (India vs England) स्थलों में क्षमता के 50 प्रतिशत दर्शकों को आने की स्वीकृति दे दी है. बीसीसीआई और तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) ने इससे पहले भी दर्शकों के प्रवेश पर चर्चा की थी लेकिन बाद में पहले दो मैचों का आयोजन खाली स्टेडियम में कराने का फैसला किया. लेकिन सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की आवाजाही को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय के ताजा दिशानिर्देशों के बाद स्थिति बदल गई है. Also Read - Coronavirus Cases in India: एक दिन में 3.33 लाख लोग हुए संक्रमित, 525 लोगों की हुई मौत

टीएनसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर न्‍यूज (India vs England) एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘‘पांच फरवरी से शुरू हो रहे पहले टेस्ट के लिए दर्शकों को आने की स्वीकृति देने के लिए समय नहीं है क्योंकि हमें शनिवार को ही सरकारी अधिसूचना मिली. आप इतने कम समय में दर्शकों के प्रवेश का इंतजाम नहीं कर सकते.’’ Also Read - Jacinda Ardern: कोरोना के कारण दुनियाभर में पाबंदी, इस देश की प्रधानमंत्री ने रद्द की अपनी शादी

‘‘लेकिन हां, नवीनतम दिशानिर्देशों के बाद पूरी संभावना है कि 14 फरवरी से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में दर्शकों को आने की स्वीकृति मिल सकती है.’’

चेपक की क्षमता 50,000 दर्शकों की है. दोनों टीमों के बीच अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में होने वाले तीसरे और चौथे टेस्ट के लिए दर्शकों को आने की स्वीकृति मिलना तय है. बीसीसीआई के सूत्र ने कहा कि बोर्ड के शीर्ष अधिकारी और टीएनसीए के अधिकारी सोमवार से बैठकें करके दर्शकों के प्रवेश का खाका तैयार करेंगे.