नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम ब्रिटेन के लंबे दौरे की शुरूआत बुधवार को डबलिन में आयरलैंड के खिलाफ दो टी 20 मैचों की श्रृंखला के पहले मैच में जीत के साथ करने उतरेगी. इस मैच से टीम इंग्लैंड दौरे की तैयारी भी करेगी जो इस संक्षिप्त श्रृंखला के बाद शुरू होगा. शानदार फार्म में चल ही इंग्लैंड की टीम ने एकदिसवीय श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया का 5-0 से सूपड़ा साफ किया है और उसके ज्यादातर खिलाड़ी लय में है. इंग्लैंड की कड़ी चुनौती को देखते हुए भारतीय टीम ने आयरलैंड के खिलाफ मैच की तैयारियों और अभ्यास के लिए लंदन में ही रूकी रही. टीम ने शनिवार को यहां पहुंचने के बाद मर्चेंट्स ट्रेलर स्कूल क्रिकेट ग्राउंड में पहले अभ्यास सत्र में भाग लिया.Also Read - RCB vs CSK Head to Head: आंकड़े देते हैं धोनी का साथ, किंग कोहली को करना होगा पलटवार

Also Read - IPL 2021, DC vs SRH: Shikhar Dhawan ने Virat Kohli-Rohit Sharma को पछाड़ा, हासिल किया बड़ा मुकाम

टीम सूत्रों के मुताबिक अभ्यास सत्र के लिए खिलाड़ियों को तीन समूहों में बांटा गया. उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार के साथ हरफनमौला हार्दिक पांड्या ने तेज गेंदबाजों का नेतृत्व किया , जबकि कुछ अन्य ने क्षेत्ररक्षण अभ्यास किया. बल्लेबाजों में सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन ने पहले अभ्यास किया. कप्तान विराट कोहली और फॉर्म में चल रहे केएल राहुल ने अगल – बगल के नेट पर स्पिन और तेज गेंदबाजों खिलाफ एक साथ बल्लेबाजी की. Also Read - Ravi Shastri नहीं चाहते थे Virat Kohli रहें कप्तान, T20 समेत इस फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने को कहा!

धोनी-रैना-विराट की तैयारी देख डरा आयरलैंड, डबलिन में बजेगा जीत का बैंड!

राहुल टी 20 टीम के नियमित सदस्य हैं. वनडे टीम में अजिंक्य रहाणे के न होने से 12 जुलाई से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में वह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के दावेदार होंगे. दक्षिण अफ्रीका दौरे के बाद पहली बार भारत की सबसे मजबूत टीम मैदान पर दिखेगी. मार्च में श्रीलंका के खिलाफ हुई टी 20 श्रृंखला में कोहली , भुवनेश्वर कुमार , जसप्रीत बुमराह और महेन्द्र सिंह धोनी को विश्राम दिया गया था.

अंतिम एकादश में राहुल का चयन लगभग पक्का माना जा रहा जिससे मध्यक्रम में सुरेश रैना , दिनेश कार्तिक और मनीष पांडे के बीच जद्दोजहद होगी. रैना का इस्तेमाल टीम के छठे गेंदबाज के तौर पर भी कर सकती है . दक्षिण अफ्रीका में टीम ने तीसरे नंबर पर पिंच हिटर के रूप में उनका इस्तेमाल किया था. टीम शानदार फार्म में चल रहे कार्तिक को भी बाहर नहीं रखना चाहेगी. ऐसे में आठ टी 20 मैचों में 85 की औसत से 255 रन बनाने के बावजूद भी पांडे बाहर बैठ सकते है.

भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज ए को 7 विकेट से हराया, मयंक अग्रवाल ने जड़ा शतक

गेंदबाजी विभाग में कोहली कलाई के दोनों स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को यहां की स्थिति से सामंजस्य बिठाने का मौका दे सकते है. तेज गेंदबाजी में टीम के लिए थोड़ी चिंता का सबब है. बुमराह और भुवनेश्वर पर ज्यादा जिम्मेदारी होगी क्योंकि यादव ने लंबे समय के बाद टी 20 टीम में वापसी की है और सिद्धार्थ कौल ने इस प्रारूप में पदार्पण नहीं किया है.

भारत ने आयरलैंड के खिलाफ ज्यादा मैच नहीं खेले हैं. दोनों टीमों के बीच तीन एकदिवसीय और एक टी 20 मैच खेले गये है. आयरलैंड के लिए , कप्तान गैरी विल्सन , पूर्व कप्तान विलियम पोर्टरफील्ड और ऑलराउंडर केविन ओ ‘ ब्रायन को भारतीय टीम के खिलाफ टी -20 खेलने का अनुभव हैं. इस बीच , पंजाब में जन्में आयरलैंड के 31 वर्षीय ऑफ स्पिनर सिमरनजीत सिंह पर भी सब की नजरें होंगी.