नई दिल्ली : एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी के खिताब को अपने पास बरकरार रखने के लिए भारतीय टीम शनिवार को जापान की चुनौती का सामना करने उतरेगी. शनिवार को होने वाले सेमीफाइनल में भारतीय टीम का सामना इस साल एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली जापान की टीम से होगा. जहां एक ओर भारतीय टीम के कोच हरेंद्र सिंह का कहना है कि उन्हें अपने खिलाड़ियों से आक्रामक प्रदर्शन की उम्मीद है, वहीं जापान के कोच ने अपने युवा खिलाड़ियों पर भरोसा जताया है.

भारत ने अविजित रहते हुए सेमीफाइनल की राह तय की है. पहले मैच में मेजबान टीम ओमान को 11-0 से हराने के बाद उसने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 3-1 से मात दी. जापान और भारत इस टूर्नामेंट में दूसरी बार आमने-सामने होंगे. इससे पहले, राउंड-रोबिन मैच में मनप्रीत के नेतृत्व में भारतीय टीम ने जापान को 9-0 से करारी शिकस्त दी थी. इसके बाद, मलेशिया के खिलाफ टीम का मैच गोलरहित ड्रॉ रहा और अंतिम राउंड-रोबिन मैच में दक्षिण कोरिया को हराकर भारत ने सेमीफाइनल में कदम रखा.

INDvsWI: वेस्टइंडीज के लिए चुनौतीपूर्ण होगा पुणे वनडे, भुवी-बुमराह की वापसी बढ़ा सकती है मुश्किल

इस मैच में टीम के खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भारतीय टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने कहा, “मैं अपने खिलाड़ियों को भावनाओं पर नियंत्रण रखते हुए आक्रामक हॉकी खेलते हुए देखना चाहता हूं. सेमीफाइनल मैच बेहद अलग होगा.” कोच हरेंद्र का कहना है कि यह मैच राउंड-रोबिन में जापान के खिलाफ खेले गए मैच से अलग होगा. सेमीफाइनल के आगे उस मैच का कोई महत्व नहीं है.

जापान के कोच सीजफ्राइड एकमान ने कहा, “मैंने हमेशा से कहा है कि 10 मैचों में से भारतीय टीम नौ मैच जीतने की क्षमता रखती है.” कोच एकमान ने कहा, “मैं आशा करता हूं कि शनिवार को 10 में से वो एक मैच होगा, जिसमें हम भारत को हरा सकेंगे. राउंड-रोबिन में खेला गया मैच और उसमें मिली हार अब इतिहास है. मेरे युवा खिलाड़ियों का आत्मविश्वास काफी बढ़ गया है.”

जीवा धोनी ने कराया नया हेयरकट, VIDEO वायरल

इस मैच के बारे में भारतीय टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा, “हम जानते हैं कि इस मैच में हम प्रबल दावेदार के रूप में कदम रखेंगे लेकिन इसका कोई मतलब नहीं रह जाता है, अगर हम अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं.”

कप्तान ने कहा, “हमारी कोशिश मैच में अच्छी शुरुआत करने की होगी. ऐसे में अच्छा प्रदर्शन मायने रखता है. अगर हम ऐसा कर पाते हैं, तो हम फाइनल में स्थान हासिल कर पाने में सफल रहेंगे.” गत विजेता भारतीय टीम के कप्तान को उम्मीद है कि जापान के खिलाफ भारत अच्छा प्रदर्शन करेगा.