भारतीय क्रिकेट टीम को हैमिल्टन वनडे में न्यूजीलैंड ने 4 विकेट से पराजित कर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. इस मैच में टीम इंडिया पर स्लो ओवर रेट के लिए मैच फीस का 80 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया. सीरीज का दूसरा वनडे 8 फरवरी को खेला जाएगा. मैच रैफरियों के एमिरेट्स आईसीसी एलीट पैनल के क्रिस ब्रॉड ने यह जुर्माना लगाया जब विराट कोहली की टीम गेंदबाजी करने के निर्धारित समय में चार ओवर धीमे फेंकने की दोषी पाई गई.Also Read - कार्तिक का सामने आया दर्द! ‘कई लोगों ने मेरा बोरिया-बिस्‍तर बांध दिया था, टी20 विश्‍व कप अगला लक्ष्‍य’

हार के बाद कोहली बोले- हमने मौके का फायदा नहीं उठाया, कुछ चीजों में सुधार की जरूरत Also Read - कार्तिक क्रिकेट छोड़ कमेंट्री में आजमा रहे थे हाथ, जानें टीम इंडिया में वापसी पर क्‍या बोले विकेटकीपर बल्‍लेबाज

खिलाड़ियों और खिलाड़ी सहयोगी स्टाफ के लिए आईसीसी आचार संहिता की धारा 2.22 के अनुसार अगर टीम निर्धारित समय में पूरे ओवर गेंदबाजी नहीं कर पाती तो खिलाड़ियों को प्रति ओवर अपनी मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माने के तौर पर देना होता है. Also Read - टीम इंडिया में पहली बार चुने गए जम्मू-कश्मीर के तेज गेंदबाज Umran Malik

आईसीसी ने कहा कि कोहली ने जुर्माना स्वीकार कर लिया इसलिए अधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी. फील्ड अंपायर शॉन हेग और लैंगटन रूसेरे, थर्ड अंपायर ब्रुस ओक्सेनफोर्ड और चौथे अंपायर क्रिस ब्राउन ने आरोप तय किए.

भारतीय कप्तान की ‘हवाई छलांग’ को देख ICC को भी नहीं हुआ विश्वास, पूछा ये विराट कोहली हैं या जोंटी रोड्स?

इससे पहले मौजूदा दौरे पर 5 मैचों की टी-20 सीरीज के अंतिम दो मुकाबलों में भी टीम इंडिया पर स्लो ओवर रेट के लिए जुर्माना लगाया गया था.