भारतीय क्रिकेट टीम को हैमिल्टन वनडे में न्यूजीलैंड ने 4 विकेट से पराजित कर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. इस मैच में टीम इंडिया पर स्लो ओवर रेट के लिए मैच फीस का 80 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया. सीरीज का दूसरा वनडे 8 फरवरी को खेला जाएगा. मैच रैफरियों के एमिरेट्स आईसीसी एलीट पैनल के क्रिस ब्रॉड ने यह जुर्माना लगाया जब विराट कोहली की टीम गेंदबाजी करने के निर्धारित समय में चार ओवर धीमे फेंकने की दोषी पाई गई. Also Read - Ab de Villiers के इस 4-Point Message से वापस फॉर्म में लौटे Virat Kohli, भारतीय कप्‍तान ने मांगी थी मदद

हार के बाद कोहली बोले- हमने मौके का फायदा नहीं उठाया, कुछ चीजों में सुधार की जरूरत Also Read - IPL 2021 RR vs DC Highlights in Hindi: क्रिस मॉरिस की धमाकेदार पारी के दम पर राजस्थान ने दिल्ली को हराया

खिलाड़ियों और खिलाड़ी सहयोगी स्टाफ के लिए आईसीसी आचार संहिता की धारा 2.22 के अनुसार अगर टीम निर्धारित समय में पूरे ओवर गेंदबाजी नहीं कर पाती तो खिलाड़ियों को प्रति ओवर अपनी मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माने के तौर पर देना होता है. Also Read - BCCI के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की ए+ कैटेगरी में कोहली, रोहित और बुमराह को मिली जगह; पांडे-जाधव बाहर

आईसीसी ने कहा कि कोहली ने जुर्माना स्वीकार कर लिया इसलिए अधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी. फील्ड अंपायर शॉन हेग और लैंगटन रूसेरे, थर्ड अंपायर ब्रुस ओक्सेनफोर्ड और चौथे अंपायर क्रिस ब्राउन ने आरोप तय किए.

भारतीय कप्तान की ‘हवाई छलांग’ को देख ICC को भी नहीं हुआ विश्वास, पूछा ये विराट कोहली हैं या जोंटी रोड्स?

इससे पहले मौजूदा दौरे पर 5 मैचों की टी-20 सीरीज के अंतिम दो मुकाबलों में भी टीम इंडिया पर स्लो ओवर रेट के लिए जुर्माना लगाया गया था.