हैमिल्‍टन में खेले गए वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में न्‍यूजीलैंड ने भारत पर चार विकेट से जीत दर्ज की. मैच में मिले 348 रन के विशाल लक्ष्‍य को मेजबान टीम ने रॉस टेलर 109(84) के धमाकेदार शतक की मदद से 11 गेंद बाकी रहते ही बना लिया.

यह न्‍यूजीलैंड वनडे क्रिकेट के इतिहास में रन चेज के मामले में सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले न्‍यूजीलैंड ने साल 2007 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 347 रन चेज कर सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी.

पहली पारी की रिपार्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें

न्‍यूजीलैंड की तरफ से हेनरी निकोल्स ने 82 गेंद पर 78 रन की पारी खेली. इसके अलावा कप्‍तान टॉम लेथम ने भी 48 गेंदों पर 69 रन बनाए. भारतीय टीम ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए श्रेयस अय्यर 103(107) के करियर के पहले वनडे शतक और केएल राहुल 88(64) व विराट कोहली 51(63) की अहम पारियों के दम पर निर्धारित 50 ओवरों में 347/4 रन बनाए थे.

लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान मार्टिन गप्टिल 32(41) और हेनरी निकोल्‍स 78(82) ने न्‍यूजीलैंड को अच्‍छी शुरुआत दिलाई. पहले विकेट के लिए दोनों ने साथ मिलकर 85 रन जोड़े. इस साझेदारी को 16वें ओवर में शार्दुल ठाकुर ने तोड़ा. गप्टिल का कैच केदार जाधव ने पकड़ा.

इसके बाद खेलने आए नए बल्‍लेबाज टॉम ब्‍लेंडेल महज नौ रन बनाकर आउट हुए. कुलदीप यादव की गेंद पर आगे बढ़कर शॉट लगाने के प्रयास में वो स्‍टंप आउट हो गए.

इसके बाद निकोल्‍स ने रॉस टेलर के साथ मिलकर 62 रन की अहम साझेदारी बनाई. विराट कोहली ने 29वें ओवर में निकोल्‍स को रनआउट कर चलता किया.

कप्‍तान टॉम लेथम 69(48) ने इसके बाद रॉस टेलर का साथ बखूबी साथ निभाया. दोनों साथ मिलकर न्‍यूजीलैंड के स्‍कोर को 300 के पार ले गए. दोनों ही बल्‍लेबाजों ने इस दौरान बेहद तेज गति से रन बनाए. दोनों के बीच 138 रन ही अहम साझेदारी बनी.

पढ़ें:- पहले वनडे के लिए भारतीय टीम में 5 बदलाव, पंत, सैनी, चहल, शिवम, मनीष पांडे प्‍लेइंग इलेवन से बाहर

इस साझेदारी के सामने भारत द्वारा दिया गया 348 रन का लक्ष्‍य भी छोटा नजर आने लगा. कुलदीप यादव ने 42वें ओवर में टॉम लेथम को मोहम्‍मद शमी के हाथों कैच आउट कराकर एक बार फिर भारत की वापसी कराई. इसके बाद बल्‍लेबाजी के लिए आए जेम्‍स नीशम 9(14) खास योगदान नहीं दे पाए और शमी के ओवर में केदार जाधव के हाथों कैच आउट हो गए. कॉलिन डी ग्रैंडहोम भी महज एक रन बनाकर रन आउट हो हुए.

एक छोर पर रॉस टेलर टीम की नैया पार लगाने के लिए अंत तक खड़े रहे. मिशेल सेंटनर ने 48वें ओवर में शार्दुल ठाकुर के ओवर में एक छक्‍का और चौका लगाकर मैच को फिर अपने पाले में कर लिया.