न्‍यूजीलैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज (India vs New Zealand) की शुरुआत होने में अब महज दो दिन का वक्‍त बचा है। इस बात का निर्णय अब तक नहीं हो पाया है कि मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के साथ बतौर सलामी बल्‍लेबाज दूसरे खिलाड़ी पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) होंगे या शुबमन गिल (Shubman Gill)। विराट कोहली ने बुधवार को पहले टेस्‍ट में पृथ्‍वी शॉ और इशांत शर्मा (Ishant Sharma) को मौका दिए जाने के संकेत दिए। Also Read - India vs England: अक्षर की तारीफ करते-करते ये गुजरात को लेकर क्या बोल गए विराट कोहली! क्यों आई रविंद्र जडेजा की याद

विराट कोहली ने कहा, “इशांत शर्मा चोट के बाद वापसी करते हुए काफी सामान्‍य नजर आ रहे हैं। टखने में चोट से पहले वो जिस तरह से खेल रहे थे वो ठीक वैसे ही अब भी नजर आ रहे हैं। वो न्‍यूजीलैंड में पहले खेल चुके हैं और सही जगह पर गेंद भी डाल रहे हैं।” Also Read - 2 दिन में टेस्ट मैच जीतकर भारत ने रचा इतिहास, इन 5 कारणों के चलते विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेलेगी टीम इंडिया

पढ़ें:- IND vs NZ: नील वेगनर के कवर के तौर पर मैट हेनरी बने न्‍यूजीलैंड की टीम का हिस्‍सा, ये है वजह Also Read - Ind vs Eng: इंग्लैंड को हरा MS Dhoni से आगे निकले कोहली, मोटेरा के मैदान पर टूटे कई रिकॉर्ड

विराट ने कहा, “पृथ्‍वी शॉ काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी है। उसके पास बल्‍लेबाजी का अपना तरीका है। हम चाहते हैं कि वो अपने तरीके से ही आगे भी खेलता रहे। इन युवाओं के पास कोई बोझ नहीं है। वो प्रदर्शन को लेकर ज्‍यादा उतावले नहीं हैं।”

“मेरी नजर में पृथ्‍वी मयंक की तुलना में थोड़ा कम अनुभवी है। मैं मयंक को उतना अनुभवहीन नहीं मानता क्‍योंकि उसने पिछले साल काफी रन बनाए हैं। ऐसे में वो समझता है कि टेस्‍ट क्रिकेट में उसकी गेम कैसी है।”

विराट कोहली ने कहा, “मुझे लगता है कि कभी-कभी हम सफेद गेंद के क्रिकेट में बहुत से प्रयोग करते हैं लेकिन जब आप टेस्‍ट क्रिकेट में आते हो तो फिर अनुशासन के साथ ही खेलने लगते हो। ऐसे में यह पृथ्‍वी को ज्‍यादा सूट करता है।”

पढ़ें:- युवराज सिंह अब फिल्‍मों में आजमाने जा रहे हैं किस्‍मत, वेब सीरीज में पत्‍नी- भाई भी आएंगे नजर

विराट कोहली ने मैच के दौरान तीन तेज गेंदबाज और एक स्पिनर के साथ उतरने पर जोर दिया। उन्‍होंने कहा, “अगर मैं जोहान्‍सबर्ग की पिच पर होता तो मैं यह कह सकता था कि हम चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरेंगे। हमारी टीम में यह काबिलियत है कि हम विरोधी टीम को तीन तेज गेंदबाजों के साथ भी ऑलआउट कर सकते हैं। आपको एक ऐसे वर्ल्‍ड क्‍लास स्पिनर की जरूरत होती है जो किसी भी पिच पर विकेट निकाल सके।”

“हम भारत में होने वाले मैचों की टीम के साथ यहां नहीं उतरेंगे। हमारा टीम चयन न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सबसे ज्‍यादा खतरनाक खिलाड़ियों को उतारने पर आधारित रहेगा।”