मैनचेस्टरः पूर्व क्रिकेटरों ने भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व कप सेमीफाइनल के लिए इस्तेमाल की गई पिच की आलोचना की है. न्यूजीलैंड ने मंगलवार को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन धीमी पिच पर रन बनाना आसान नहीं था. बारिश के कारण मैच रोके जाने तक कीवी टीम ने 46.1 ओवर में पांच विकेट पर 211 रन बनाए थे. आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज मार्क वा ने ट्विटर पर पिच की आलोचना की. वा ने कहा, ‘ओल्ड ट्रैफर्ड की पिच अच्छी नहीं थी. काफी धीमी थी. यदि न्यूजीलैंड 240 रन बना लेता है तो मैच बराबरी का होगा.’

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने 97 गेंद में 67 रन बनाये जबकि रोस टेलर 85 गेंद में 67 रन बनाकर खेल रहे थे. इंग्लैंड के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर मार्क बूचर ने कहा, ‘इस विश्व कप में पिचें कचरे की तरह रही है.’ उन्होंने कहा, ‘इसमें आखिर के पांच ओवर रोमांचक हो सकते हैं लेकिन बाकी 95 ओवर बेहद खराब.’

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर ग्रीम फोवलेर ने कहा, ‘विश्व कप सेमीफाइनल की विकेट कितनी बेकार थी.’ आईसीसी ने हालांकि इस बात से इनकार किया कि मैदानकर्मियों को धीमी पिचें बनाने के निर्देश दिये गए थे. आईसीसी ने एक बयान में कहा, ‘हमने आईसीसी टूर्नामेंटों के लिये सर्वश्रेष्ठ पिचें बनाने के निर्देश दिये हैं. यह वनडे क्रिकेट के लिये इंग्लैंड के हालात में सर्वश्रेष्ठ पिच थी. आईसीसी किसी टीम को लाभ या नुकसान पहुंचाने के लिये किसी तरह के निर्देश नहीं देती है.’