कानपुर, 21 सितम्बर। भारतीय टेस्ट टीम गुरुवार को जब अपने ऐतिहासिक 500वें टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड से भिड़ेगी तो उसकी कोशिश टेस्ट में शीर्ष स्थान पर कब्जा जमाने की होगी। दोनों देशों के बीच होने वाली तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला का पहला मैच कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में गुरुवार से खेला जाएगा। इस मैच को कीवी टीम की बल्लेबाजी और घरेलू परिस्थिति में भारत की स्पिन गेंदबाजी के बीच के मुकाबले के तौर पर देखा जा रहा है। भारत के ऑफ स्पिनर रविचन्द्रन अश्विन पर टीम के पास गेंदबाजी आक्रमण की कमान होगी तो वहीं मेहमान टीम के कप्तान केन विलियमसन पर अपनी टीम की बल्लेबाजी का दारोमदार होगा।

पिच के स्पिन की मददगार होने की उम्मीद है। ऐसे में भारत को शीर्ष स्थान पर पहुंचाने का जिम्मा काफी हद तक स्पिनरों पर होगा। लेकिन, अगर बरसात इस मैच में खलल डालती है तो मेजबानों के सभी अरमान बह जाएंगे। मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार यहां अगले छह दिन तक बारिश होने की संभावना है। स्पिन के माकूल हालात में भारतीय कप्तान विराट कोहली को अश्विन, रविचन्द्रन जडेजा और अमित मिश्रा की तिकड़ी को उतारने में कोई दिक्कत नहीं होगी। इस टेस्ट मैच से पहले भारत को झटका लगा है। टीम के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा चिकनगुनिया होने के कारण पहले टेस्ट मैच से बाहर हो गए हैं। उनकी गैर मौजूदगी में भुवनेश्वर कुमार या उमेश यादव, मोहम्मद समी का साथ दे सकते हैं। दूसरी तरफ न्यूजीलैंड ने मुंबई के खिलाफ दिल्ली में अभ्यास मैच खेला था जहां उसके गेंदबाज खर्चीले साबित हुए थे। पसली में चोट के कारण हरफनमौला खिलाड़ी जिमी नीशम का बाहर हो जाना मेहमानों के लिए बड़ा झटका है। तेज गेंदबाज टिम साउदी भी चोट के चलते टीम से बाहर हैं। यह भी पढ़े-भारत के लिए अच्छा खेल रहे हैं समी, साहा: लक्ष्मण

नीशम के कोलकाता में होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से पहले फिट होने की उम्मीद है। कीवी टीम के पास भी तीन स्पिन गेंदबाज है। इसी साल भारत में खेले गए टी-20 विश्व कप में उसके लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने शानदार गेंदबाजी की थी। भारतीय हालात को देखते हुए विलियमसन भी स्पिनरों को अपने गेंदबाजी आक्रमण में ज्यादा महत्व दे सकते हैं। अभ्यास मैच में बल्लेबाजी में कीवी टीम कुछ खास नहीं कर पाई थी। उनकी टीम के वरिष्ठ बल्लेबाज मार्टिन गुपटिल इस समय फॉर्म में नहीं है। ऐसे में विलियमसन के अलावा रॉस टेलर पर बल्लेबाजी में काफी कुछ निर्भर करेगा। यह भी पढ़े-भारत के साथ एकदिवसीय श्रृंखला के लिए न्यूजीलैंड टीम की घोषणा

यह श्रृंखला भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन के लिए कड़ी परीक्षा साबित होगी। दोनों फॉर्म में नहीं हैं और ऐसे में इन्हें टीम में चुने जाने पर मैदान के बाहर बहस जारी है। सलामी जोड़ी में मुरली विजय का अंतिम एकादश में खेलना तय है। धवन की खराब फॉर्म के कारण कोहली लोकेश राहुल को विजय का जोड़ीदार बना सकते हैं। मध्यक्रम में कोहली के अलावा उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे टीम की बल्लेबाजी की धुरी हैं।

मैच से पहले भारतीय कप्तान कोहली ने अपने खिलाड़ियों को सकारात्मक रहने और हालात को अच्छे से संभालने की सलाह दी। कोहली ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यहां सफल होने के लिए सकारात्मक बने रहने के साथ ही हालात को अपने नियंत्रण में रखने की जरूरत है।” यह भी पढ़े-भारत-न्यूजीलैंड पहले टेस्ट मैच से पहले टीम इंडिया को लगा तगड़ा झटका, चिकनगुनिया की वजह से तेज गेंदबाज ईशांत बाहर

इस श्रृंखला में अगर भारत 1-0 या 2-1 से जीतता है तो उसके 111 अंक होंगे। इतने ही अंक टेस्ट की शीर्ष टीम पाकिस्तान के हैं, लेकिन दशमलव अंक में वह भारत से आगे है। अगर भारत यह श्रृंखला 2-0 से जीतता है तो उसके 113 अंक हो जाएंगे और वह नंबर एक टीम बन जाएगा। 3-0 से जीत से मेजबानों के 115 अंक होंगे। कीवी टीम के इस समय 95 अंक हैं और इनमें से किसी भी स्थिति में वह सातवें स्थान पर ही बनी रहेगी।

1-1 से श्रृंखला ड्रॉ होने पर भारत 108 अंकों के साथ चौथे स्थान पर आ जाएगा और न्यूजीलैंड 97 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर चला जाएगा। अगर कीवी टीम मेजबानों को 1-0, 2-1 से हराने में कामयाब हो पाती है तो वह 100 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर आ जाएगी। वहीं 3-0 से जीत उसे चौथे स्थान पर पहुंचा देगी। अगर भारत शीर्ष स्थान पर पहुंचता है तो ऐसा इस साल में तीसरी बार और कुल चौथी बार होगा।

संभावित टीमें:
भारत: विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, मुरली विजय, रोहित शर्मा, रविचंद्रन अश्विन, रिद्धिमान साहा, रवींद्र जडेजा, मोहम्मद समी, ईशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन, अमित मिश्रा और उमेश यादव।

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), ट्रेंट बोल्ट, डग ब्रेसवेल, मार्क क्रेग, मार्टिन गुप्टिल, टॉम लाथम, जिमी नीशम, हेनरी निकोल्स, ल्यूक रोंची, मिशेल सेंटनर, ईश सोढ़ी, टिम साउदी, रॉस टेलर, नील वैग्नर, बी.जे. वाटलिंग।