India vs New Zealand, World Cup Semi-Final : न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने कहा कि रवींद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने सेमीफाइनल में उनकी टीम को चिंता में डाल दिया था, क्योंकि दोनों ने दबाव का बखूबी सामना किया. बोल्ट ने कहा, ‘उन्होंने दबाव का अच्छी तरह सामना किया और धोनी तथा जडेजा क्रीज पर हों तो कुछ भी हो सकता है. शुक्र है कि हम जीत गए.’ विराट कोहली और जडेजा का विकेट लेने वाले इस तेज गेंदबाज ने कहा कि नई गेंद से जो दहशत उनकी टीम ने पैदा की, उसका वह पूरा मजा ले रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘नई गेंद से दहशत पैदा हो गई थी. यह शानदार शुरुआत थी और बहुत मजा आया. हम काफी रोमांचित हैं कि लॉर्ड्स पर विश्व कप फाइनल खेलने जा रहे हैं.’

वहीं, भारत पर सेमीफाइनल में मिली शानदार जीत से उत्साहित न्यूजीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज रोस टेलर ने कहा कि उनकी टीम इस बार विश्व कप फाइनल के लिए बेहतर रूप से तैयार है. चार साल पहले ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल में न्यूजीलैंड को सात विकेट से हरा दिया था. टेलर ने आईसीसी की वेबसाइट पर कहा, ‘हमें पता है कि इस बार चुनौती क्या है और दबाव कैसा रहेगा और उसका सामना कैसे करना है. हम लॉर्ड्स पर फाइनल का पूरा मजा लेंगे. इससे बेहतर फाइनल कहां हो सकता है.’ उन्होंने कहा,’ सामने चाहे इंग्लैंड हो या ऑस्ट्रेलिया, हमें मैच का पूरा मजा लेकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है.’

सेमीफाइनल में 74 रन बनाने वाले टेलर ने कहा, ‘मैं रात में तीन बजे उठ गया और मुझे समझ नहीं आया कि कैसे बल्लेबाजी करूंगा. यह अजीब था. टेस्ट मैच की तरह लग रहा था. पिछली रात नॉट आउट रहने के बाद अगले दिन फिर बल्लेबाजी…’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैंने और केन ने 240 रन की बात की थी. हमें लगा कि वह अच्छा स्कोर है. कई लोगों ने हम पर भरोसा नहीं किया, लेकिन विकेट बहुत ही धीमा था.’ टेलर ने स्वीकार किया कि लॉर्ड्स पर यह उनका आखिरी मैच हो सकता है.

(इनपुट PTI से)