नई दिल्ली : एशिया के सबसे बड़े क्रिकेट टूर्नामेंट एशिया कप की शुरुआत दुबई में शनिवार से श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच होने वाले मैच से हो रही है. लेकिन, इस टूर्नामेंट में बुधवार को दो चिर-प्रतिद्वंद्वियों भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मैच का सभी को इंतजार होगा. एशिया कप उन टूर्नामेंट में से है जहां अमूमन भारत व पाकिस्तान के बीच हाई वोल्टेज मुकाबला देखने को मिलता है. Also Read - IPL 2020 के बाद यूएई में ही खेली जाएगी भारत-इंग्लैंड सीरीज

Also Read - IPL 2020, CSK vs MI: मैच का रुख पलट सकते हैं मुंबई-चेन्नई के ये पांच खिलाड़ी

भारतीय टीम अपने नियमित कप्तान विराट कोहली के बगैर टूर्नामेंट में उतर रही है. कप्तान नियुक्त किए गए रोहित शर्मा पर टीम को एक बार फिर विजेता का तमगा दिलाने की बड़ी जिम्मेदारी है. भारत को पाकिस्तान और .हॉन्गकॉन्ग के साथ ग्रुप-ए में रखा गया है. पाकिस्तान से पहले भारत को मंगलवार को हॉन्गकॉन्ग का सामना करना है. Also Read - कल से फिर दुबई के लिए शुरू होंगी एयर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ानें, केवल 24 घंटे का लगा 'प्रतिबंध'

भारत एशिया कप में अब तक सर्वाधिक खिताब जीतने वाला देश है. उसने टूर्नामेंट के 13 संस्करणों में से छह बार खिताब अपने नाम किया है. हालांकि इस बार टीम के लिए काम थोड़ा मुश्किल होगा क्योंकि वह अपने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज कोहली के बिना टूर्नामेंट में उतर रही है.

एशिया कप 2018: सहवाग ने धोनी के प्रदर्शन पर कही दिल जीतने वाली बात, वर्ल्डकप से जुड़ा किया ये खुलासा

दुबई की पिच स्पिनरों के लिए मददगार साबित होती रही है, ऐसे में युजवेंद्र चहल और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव तुरुप का पत्ता साबित हो सकते हैं. वहीं टीम में वापसी कर रहे केदार जाधव भी परिस्थितियों के अनुसार दोनों स्पिनरों की मदद कर सकते हैं. पाकिस्तान दो बार, 2002 और 2012 में एशिया कप का खिताब अपने नाम कर चुका है.

फखर जमान, बाबर आजम, इमाम उल हक, शोएब मलिक और सरफराज अहमद बल्लेबाजी में टीम को मजबूती देने के लिए तैयार हैं. गेंदबाजी में शादाब खान स्पिन विभाग में तो मोहम्मद आमिर, हसन अली और शाहीन अफरीदी तेज गेंदबाजी में टीम को गति देंगे.

भारत और पाकिस्तान के ग्रुप में शामिल .हॉन्गकॉन्ग इससे पहले 2004 और 2008 में टूर्नामेंट में भाग ले चुका है. टीम को अपने बल्लेबाज अंशुमन रथ से काफी उम्मीदें होंगी जिन्होंने 16 वनडे मैचों में 52.57 के औसत से रन बनाए हैं.

Asia Cup 2018: 6 टीम, 13 मुकाबले और 14 दिन, देखें एशियाई देशों के बीच सबसे बड़ी जंग का पूरा शेड्यूल

ग्रुप-बी में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका की टीमें हैं. पहले मैच में बांग्लादेश का सामना श्रीलंका से होना है. दोनों टीमें अपने मुख्य खिलाड़ियों की चोटों से जूझ रही हैं. बांग्लादेश के तीन खिलाड़ी तमीम इकबाल, नजमुल हुसैन और शाकिब अल हसन चोटिल है. श्रीलंका में दानुष्का गुणाथिलका और दिनेश चांडीमल टीम से बाहर हैं. हालांकि तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की वापसी हुई है.

ग्रुप-बी में श्रीलंका और बांग्लादेश के अलावा अफगानिस्तान तीसरी टीम है. अफगानिस्तान और बांग्लादेश पिछली बार 2014 के एशिया कप में आमने सामने हुए थे और तब अफगानिस्तान ने बांग्लादेश को हराकर टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत दर्ज की थी.

अफगानिस्तान की गेंदबाजी ग्रुप में बाकी टीमों के लिए चुनौती हो सकती है. अफगानिस्तान में सभी की नजरें राशिद खान पर होंगी. राशिद ने बीते दो वर्षों में अपनी जादुई स्पिन से विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों को परेशान किया है.