शीर्ष क्रम बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के पहले अंतरराष्ट्रीय दोहरे शतक के बदौलत भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में चाय तक पांच विकेट खोकर 450 रन बना लिए हैं। दिन के दूसरे सेशन में टीम इंडिया ने चार विकेट खोकर 126 रन जोड़े। टी तक रवींद्र जडेजा (6) और हनुमा विहारी (8) क्रीज पर बने हुए हैं।

करियर के पहले घरेलू टेस्ट में मयंक ने 371 गेंदो पर 215 रन की शानदार पारी खेली। पहले सेशन में रोहित शर्मा (176) के आउट होने के बाद मयंक ने पारी की जिम्मेदारी अपनी ऊपर ली।

पहला विकेट गिरने के बाद बल्लेबाजी करने आए चेतेश्वर पुजारा (6) लंच के बाद पहली ही गेंद पर वर्नान फिलेंडर के शिकार हुए। जिसके बाद मयंक ने कप्तान विराट कोहली के साथ साझेदारी बनाई। वाइजैग के मैदान पर कई यादगार पारियां खेलने वाले कोहली आज खास कमाल नहीं दिखा पाए। कोहली 40 गेंदो पर 20 रन बनाकर डेब्यू मैच खेल रहे सेनुरन मुथुसामी के ओवर में कैच आउट हुए। मुथुसामी ने टर्न से भारतीय कप्तान को चकमा दिया और अपने ही ओवर में शानदार कैच लिया।

पहले ही घरेलू टेस्‍ट में मयंक का दोहरा शतक, विशेष क्‍लब में बनाई जगह

कप्तान के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए उप कप्तान अजिंक्य रहाणे भी मात्र 15 रन बनाकर केशव महाराज के शिकार बने। स्पिन के खिलाफ रहाणे की कमजोरी एक बार फिर सामने आई।

एक छोर के विकेट गिरने के बावजूद मयंक ने शानदार बल्लेबाजी जारी रखी। 116वें ओवर में केशव महाराज की पहली गेंद पर दो रन लेकर मयंक ने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक पूरा किया। 120वें ओवर में कप्तान फाफ डु प्लेसिस पार्ट टाइम स्पिनर डीन एल्गर को अटैक में लाए। एल्गर अपने पहले ही ओवर में मयंक का अहम विकेट लिया। ओवर की चौथी गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में मयंक डीप मिड विकेट पर मौजूद फील्डर को कैच दे बैठे। 124 ओवर के बाद अंपायर ने टी ब्रेक का ऐलान किया।