सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) की शतकीय पारियों की बदौलत भारतीय टीम (Team India) ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वाइजैग टेस्ट के दूसरे दिन लंच तक 324/1 का स्कोर बनाया ।

रोहित ने 244 गेंदो पर 23 चौकों और छह छक्कों की मदद से 176 रन की पारी खेली। दिन के पहले सेशन में भारत ने रोहित का अहम विकेट खोकर 122 रन बनाए। पहला सेशन खत्म होने तक मयंक 270 गेंदो पर 138 रन बनाकर नाबाद हैं और चेतेश्वर पुजारा (6) उनका साथ दे रहे हैं।

रोहित और मयंक ने दिन की शुरुआत कल के स्कोर 202/0 से की। पहले सेशन की शुरुआत में वर्नान फिलेंडर ने रोहित को थोड़ा परेशान किया और 64वें ओवर में भारतीय सलामी बल्लेबाज के खिलाफ विकेट लेने का मौका भी बनाया। ओवर की दूसरी गेंद पर चौका लगाने के बाद अगली गेंद रोहित के बल्ले के किनारे से लगकर विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक की तरफ गई, जो कैच पकड़ने में नाकाम रहे। जिसके बाद रोहित ने दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों को दूसरा मौका नहीं दिया।

रोहित ने मयंक के साथ मिलकर भारत- दक्षिण अफ्रीका टेस्ट सीरीज इतिहास की सबसे बड़ी टेस्ट ओपनिंग साझेदारी (317 रन) बनाई। उन्होंने गैरी कर्स्टन और एंड्रूयू हडसन की 1996-97 में कोलकाता टेस्ट में बनाई 236 रन की साझेदारी के रिकॉर्ड को तोड़ा।

सहवाग-गंभीर से आगे निकले रोहित शर्मा-मयंक अग्रवाल, हासिल किया बड़ा मुकाम

69वें ओवर में मयंक ने केशव महाराज के खिलाफ सिंगल लेकर अपना पहला टेस्ट शतक पूरा किया। पारी को आगे बढ़ाते हुए रोहित ने 76वें ओवर में 150 रन का आंकड़ा पार किया। और शिखर धवन के बाद बतौर सलामी बल्लेबाज डेब्यू मैच में 150 से ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे भारतीय बने। 150 का आंकड़ा पार करते ही रोहित के दोहरा शतक लगाने की उम्मीद भी बढ़ गई लेकिन वो 200 के आंकड़े तक नहीं पहुंच सके।

82वें ओवर में केशव महाराज के खिलाफ एक छक्का और एक चौका लगाने के बाद आखिरी गेंद पर एक और बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में पर रोहित कीपर डी कॉक के हाथों स्टंप आउट हो गए और 176 रन बनाकर पवेलियन लौटे। रोहित के आउट होने के बाद चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर आए। लंच तक भारत ने एक विकेट के नुकसान पर 324 रन जोड़ लिए हैं।