कंधे के दर्द के बावजूद भारत के खिलाफ पुणे टेस्ट के तीसरे दिन 72 रन की अर्धशतकीय पारी खेलने वाले दक्षिण अफ्रीका के पुछ्ल्ले बल्लेबाज केशव महाराज (Keshav Maharaj) ने कहा कि भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन वो सकारात्मक बने रहे।

तीसरे दिन कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) और क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) के अहम विकेट गिरने के बाद महाराज और वर्नान फिलेंडर (Vernon Philander) ने नौंवे विकेट के लिए 109 रन की भागीदारी निभाई। जिससे दक्षिण अफ्रीकी टीम भारत के पहली पारी के पांच विकेट पर 601 रन (घोषित) के स्कोर के जवाब में 275 रन बनाने में सफल रही।

महाराज ने कहा, ‘‘वर्नान और मैंने खुद से कहा कि हम चायकाल तक बल्लेबाजी करते हैं और फिर देखते हैं क्या होता है। निचले क्रम का बल्लेबाज होने के नाते आप बड़े शॉट लगाना चाहते हो लेकिन वर्नान ने मुझे ऐसा करने से रोके रखा। मैं सकारात्मक बना रहा क्योंकि अगर आप ऐसा करोगे तो आप किसी गेंद पर अपना विकेट गंवा सकते हो।’’

सरफराज अहमद को टेस्ट टीम की कप्तानी से हटाना चाहते हैं पीसीबी चेयरमैन : रिपोर्ट

भारत के खिलाफ पहला टेस्ट हार चुकी दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरे टेस्ट की पहली पारी में 275 रन पर ऑलआउट होने के बाद 326 रन से पीछे चल रही है। हालांकि तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत की ओर से फॉलो ऑन देने का ऐलान नहीं किया गया था लेकिन पहली पारी के विशाल अंतर को देखते हुए ऐसा संभव है।