पहली पारी में 275 रन पर ढेर होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज फॉलो-ऑन पारी में भी फ्लॉप रहे। पुणे टेस्ट के चौथे दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के फॉलो-ऑन देने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी मेहमान टीम ने लंच तक मात्र 74 रन पर चार बड़े विकेट खो दिए। गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर पहला सेशन पूरी तरह भारत के नाम रहा।

चौथे दिन की खेल की शुरुआत तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने की, जिन्होंने अपने पहले ओवर की दूसरी गेंद पर एडेन मारक्रम (Aiden Markram) को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई। इशांत की इनस्विंगर से बीट हुए मारक्रम एलबीडब्ल्यू होकर बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए।

दूसरे ओवर में उमेश यादव (Umesh Yadav) के खिलाफ थ्यूनिस डी ब्रॉयन (Theunis de Bruyn) को एक जीवनदान मिला, जब ओवर की तीसरी गेंद पर कप्तान कोहली ने स्लिप पर उनका कैच छोड़ दिया। हालांकि डी ब्रॉयन इस जीवनदान का खास फायदा नहीं उठा सके। छठें ओवर में उमेश ने ही उन्हें आउट किया। ओवर की चौथी गेंद पर डी ब्रॉयन लेग स्टंप की ओर जाती गेंद पर रन चुराने की कोशिश में बल्ले का किनारा दे बैठे और रिद्दिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने डाइव लगाते हुए बाएं हाथ से कमाल का कैच पकड़ा।

14 साल के आर प्रग्गनानंद ने विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप में गोल्ड जीता

टीम इंडिया को अगली दो बड़ी सफलताएं स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने दिलाईं। ड्रिंक्स ब्रेक के बाद 24वें ओवर में अश्विन ने साहा की शानदार विकेटकीपिंग की मदद से विपक्षी कप्तान फाफ डु प्लेसिस को मात्र पांच रन के स्कोर पर आउट किया। ओवर की तीसरी गेंद पर डु प्लेसिस बल्ले का किनारा लगा बैठे और साहा ने थोड़ा फंबल करने के बाद आखिरकार कैच पकड़ लिया।

अपने अगले ही ओवर में अश्विन ने अर्धशतक के करीब पहुंच रहे डीन एल्गर (Deam Elgar) को बड़ा शॉट खेलने के लिए ललचाया और उनकी योजना कामयाब हुई। एल्गर ने हल्की ड्रिफ्ट होकर रही गेंद को मिड ऑन की तरफ हवा में खेल दिया, वहा मौजूद फील्डर उमेश ने आसान का कैच पकड़ा। एल्गल 72 गेंदो पर 48 रन बनाकर लौटे। एल्गर अपनी टेस्ट करियर में छठीं बार अश्विन का शिकार बनें।

27 ओवर के बाद अंपायर्स ने लंच का ऐलान कर दिया। पहला सेशन खत्म होने तक क्विंटन डी कॉक और टेम्बा बावुमा क्रीज पर हैं, जिनेक सामने 252 रन की बढ़त को पार करने की चुनौती है।