भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने स्वीकार किया कि भारत जीत का हकदार था.

ढिलाई नहीं बरतेंगे, रांची में क्लीन स्वीप करने उतरेंगे : विराट कोहली

भारत ने पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज अपने नाम कर ली. मेजबान भारतीय टीम ने विशाखापत्तनम में खेले गए पहले टेस्ट में मेहमान दक्षिण अफ्रीका को 203 रन से रौंदा था.

पुणे टेस्ट मैच हार के बाद डु प्लेसिस ने कहा, ‘उन्हें स्वदेश में हराना बेहद मुश्किल है और रिकॉर्ड इसका गवाह है. हम जानते हैं कि उप महाद्वीप में आपकी पहली पारी महत्वपूर्ण होती है. अच्छे स्कोर से आपकी संभावना बन जाती है.’

भारत ने अपनी पहली पारी 5 विकेट पर 601 रन बनाकर घोषित की थी. जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम 275 रन पर ढेर हो गई थी. दूसरी पारी में फॉलोऑन खेलते हुए मेहमान टीम 189 रन पर सिमट गई.

उमेश यादव बोले- मेरी ओर से रिद्धिमान साहा के लिए पार्टी तो बनती है

डु प्लेसिस ने कहा, ‘लेकिन जिस तरह से भारत ने बल्लेबाजी की विशेषकर विराट का दोहरा शतक. इसके लिए काफी मानसिक मजबूती चाहिए. दो दिन तक मैदान पर क्षेत्ररक्षण करने से आप थक सकते हो. विशेष दूसरे दिन शाम को बल्लेबाज मानसिक रूप से कमजोर थे.’

टेस्ट मैच में स्पिनर के बजाय अतिरिक्त तेज गेंदबाज उतारने के बारे में उन्होंने कहा, ‘इस पिच के लिहाज से यह सही फैसला था. वर्नोन फिलेंडर और कगीसो रबाडा ने पहले कुछ दबाव बनाया लेकिन हमें एक और गेंदबाज की जरूरत थी जो दबाव बना सके. एक युवा तेज गेंदबाज (एनिरक नोर्त्जे) जो पदार्पण कर रहा हो उससे यह बहुत उम्मीद लगाना अनुचित है. भारत ने अच्छी गेंदबाजी की.’