भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ सीरीज से पहली बार टेस्ट में पारी का आगाज करते हुए सफलता हासिल करने का श्रेय रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को जाता है क्योंकि उन्होंने ‘चिंता और संकोच’ को खुद पर हावी नहीं होने दिया. Also Read - घर लौटकर T Natarajan ने बताया वो कब हो गए थे नर्वस, टेस्‍ट सीरीज जीत में निभाई अहम भूमिका

Also Read - Virat Kohli को छोड़ देनी चाहिए टेस्ट टीम की कमान, Ajinkya Rahane हैं तैयार: बिशन सिंह बेदी

भारत दौरे से ठीक पहले बांग्‍लादेश के खिलाड़ियों की हड़ताल पर BCB को साजिश का शक Also Read - ऋद्धिमान साहा को यकीन- समय के साथ बेहतर होगी रिषभ पंत की विकेटकीपिंग

कोहली ने कहा कि रोहित की पारियों से गेंदबाजों को 20 विकेट लेने के लिए पूरा समय मिला जिससे टीम ने 3-0 से सीरीज अपने नाम की.

रोहित ने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में 176 और 127 रन बनाए जबकि तीसरे टेस्ट में उन्होंने 212 रन की पारी खेली. टीम प्रबंधन का मानना है कि खेल के सबसे लंबे प्रारूप में रोहित की सफलता मैच का रूख बदलने की ताकत रखती है.

कोहली (Kohli) ने एकदिवसीय टीम (ODI) के उपकप्तान (Vice Captain) की तारीफ करते हुए कहा, ‘चिंता और संकोच पर काबू पाकर इस तरह का प्रदर्शन करने का पूरा श्रेय खिलाड़ी को ही जाता है जो सलामी बल्लेबाज के तौर पर पहली ही सीरीज में ही मैन ऑफ द सीरीज रहे. यह उनके लिए शानदार रहा.’

शर्मनाक हार के बाद इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान ने इस अफ्रीकी दिग्‍गज को कोच बनाने की सिफारिश की

भारतीय कप्तान (Indian Captain) ने कहा, ‘वह लंबे समय से एकदिवसीय में सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाज हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में वह कैसा प्रदर्शन करेंगे, इस बात की आशंका थी. बारिश के कारण दो सत्र का खेल प्रभावित हुआ लेकिन उन्होंने जिस तेजी से बल्लेबाली की थी उससे टीम को दक्षिण अफ्रीका को दो बार आउट करने का पूरा समय मिला.’