भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को आगाह करते हुए कहा है कि उनकी टीम सीरीज में आगे ढिलाई नहीं बरतेगी और रांची में तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में भी जीत दर्ज करके क्लीन स्वीप करने की कोशिश करेगी. Also Read - स्टीव स्मिथ के स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ आउट ना होने के रिकॉर्ड को बदलना चाहता था: अश्विन

Also Read - IND vs AUS: आईसीसी ने बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी की चारों पिचों को दी 'हाई रेटिंग'; एडिलेड को सबसे बेहतर बताया

उमेश यादव बोले- मेरी ओर से रिद्धिमान साहा के लिए पार्टी तो बनती है Also Read - घर लौटकर T Natarajan ने बताया वो कब हो गए थे नर्वस, टेस्‍ट सीरीज जीत में निभाई अहम भूमिका

भारत ने दूसरे टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है.

कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘टेस्ट चैंपियनशिप पर गौर करने पर हर मैच महत्वपूर्ण बन गया है चाहे वह स्वदेश में हो या विदेश में. प्रारूप ऐसा ही है. इसलिए हम तीसरे टेस्ट मैच में भी किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतेंगे.’

उन्होंने कहा, ‘कोई भी किसी भी समय ढिलाई नहीं बरतेगा. हम तीसरे टेस्ट में भी जीत के लिए उतरेंगे और उम्मीद है कि 3-0 से श्रृंखला जीतेंगे.’

रांची टेस्ट से बाहर हुए चोटिल केशव महाराज, जॉर्ड लिंडे को मौका

उप कप्तान अंजिक्य रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिए 178 रन की साझेदारी के बारे में कोहली ने कहा, ‘मैं जिंक्स (रहाणे) के साथ बल्लेबाजी का वास्तव में लुत्फ उठाता हूं. हम जब साझेदारी निभाते हैं तो हम मैच को आगे ले जाते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘आपको सुबह नई गेंद का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए. जब परिस्थितियां मुश्किल थी तब हमने अच्छा खेल दिखाया. जब भी मैंने गलत किया उसने मुझे बताया और इसी तरह से मैं उसे बताता रहा.’

साहा विशाखापत्तनम में वापसी करने को लेकर नर्वस थे’

कोहली ने रिद्धिमान साहा के बारे में कहा, ‘वह विशाखापत्तनम में वापसी करने पर थोड़ा नर्वस थे लेकिन इस मैच में उन्होंने शानदार विकेटकीपिंग की. अश्विन ने भी शानदार वापसी की.’

उन्होंने कहा, ‘जब हमने टीम के रूप में शुरुआत की तो हमारी टेस्ट रैंकिंग सात थी. हमारे पास आगे बढ़ना ही एकमात्र रास्ता था. हमने कुछ चीजें तय की और प्रत्येक को कड़ी मेहनत और अभ्यास करने के लिये कहा. हम भाग्यशाली हैं कि हमारे पास पिछले तीन चार साल से खिलाड़ियों का एक अच्छा समूह है. सभी खिलाड़ियों में लगातार सुधार के लिये भूख और जुनून देखकर अच्छा लगता है.’