जोहानिसबर्ग| भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यहां के वांडरर्स मैदान पर खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच की पिच की तीखी आलोचना करते हुये वेस्टइंडीज के दिग्गज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने इसे ‘खतरनाक’ बताया है. होल्डिंग ने कहा, मुझे लगता है यह पिच खतरनाक है. मैच के तीसरे दिन की स्थिति देखकर मैं इस पिच पर बल्लेबाजी करना पसंद नहीं करूंगा. Also Read - अगस्‍त में भारत के दौरे पर अड़ा CSA, कहा- करेंगे 350 लोगों के लिए जैव-सुरक्षित माहौल का इंतजाम

Also Read - कोहली एंड कंपनी और दक्षिण अफ्रीका के बीच अगस्त में खेली जा सकती है T20 मैचों की सीरीज बशर्तें...

उन्होंने कहा,  देखिए, मैं ‘लेटरल मूवमेंट’ से खुश हूं, यह वैसा ही है जैसा हमने केपटाउन में हुए पहले टेस्ट मैच में देखा था. लेकिन जब लेंथ गेंद जरूरत से ज्यादा उछाल लेती है और बल्लेबाज को इससे चोट लगती है तो मुझे नहीं लगता कि यह अच्छी पिच है. Also Read - IND vs SA: भारत आई अफ्रीकी टीम के कोरोनावायरस टेस्‍ट की रिपोर्ट आई सामने

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान केपलर वेसेल्स ने भी इसकी आलोचना करते हुये कहा, असमान्य उछाल समस्या है, ना कि ‘लेटेरल मूवमेंट’. बल्लेबाजी की दृष्टि से यह काफी खतरनाक है, वह भी तब जब लंबे कद के गेंदबाज लगभग 140 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे है.

दक्षिण अफ्रीका के एक अन्य पूर्व कप्तान और तेज गेंदबाज शॉन पोलाक ने कहा,  हम गेंद और बल्ले के बीच अच्छा मुकाबला देखना चाहते हैं और इस पिच पर ऐसा नहीं हो रहा. मैं इसे 10 में से तीन अंक दूंगा.

ट्रेविस हेड के अर्धशतक से आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को हराया

ट्रेविस हेड के अर्धशतक से आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को हराया

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनिल गावस्कर ने भी कमेंटरी के दौरन पिच की आलोचना तो की लेकिन खेल रद्द करने की मांग नहीं की. उन्होने कहा, लगभग 240 रन बनाने के लिए भारतीय बल्लेबाजों की तारीफ की जानी चाहिये. असामान्य उछाल के कारण कोई भी बल्लेबाज अपने विकेट को लेकर सहज नहीं हो सकता है. लेकिन मुझे नहीं लगता की मैच रद्द किया जाना चाहिये.

सुबह वांडरर्स की पिच पर काफी असमान उछाल था और गुड लेंथ पर कुछ दरारें दिखने लगी थीं. असमान उछाल के कारण तीन भारतीय बल्लेबाजों और एक दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज को गुड लेंथ से असमान उछाल के कारण चोटिल हुए.

इससे बल्लेबाजों के लिये खेलना मुश्किल हो रहा था जिससे मैदानी अंपायर अलीम डार और इयान गोल्ड ने ट्रैक पर कुछ जगह की जांच भी की. गेंद पहले 31वें ओवर में कोहली के दायें हाथ मे लगी. इसके बाद 35वें ओवर में विजय के बायें हाथ में लगी. लंच के बाद 58वें ओवर में अजिंक्य रहाणे को भी चोट लगी तीनों ही मौकों पर कागिसो रबाडा गेंदबाजी कर रहे थे.

बाद में 241 रन का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की पारी के तीसरे ओवर में सलामी बल्लेबाज डीन एलगर के भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर चोट लगी. खेल रोके जाने तक 8.3 ओवर में एक विकेट गंवाकर 17 रन बना लिये थे तब जसप्रीत बुमरा की उठती गेंद एल्गर के हेलमेट पर लगी. इसके बाद अंपायरों ने खेल रोक दिया.

फिजियो पिच पर पहुंचे और एल्गर अपने सिर पर आईस-पैक लगाते दिखे. इससे पहने होल्डिंग ने कमेंटरी के दौरान इस पिच को ‘‘100 में से दो अंक’’ दिये और आईसीसी प्रतिबंध की बात कही.