न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC Final) मैच और इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के बीच भारतीय टीम को सीमित ओवर फॉर्मेट सीरीज के लिए श्रीलंका का दौरा करना है। बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का कहना है कि बोर्ड जुलाई में होने वाली इस सीरीज के लिए एक स्पेशलिस्ट टीम चुनेंगे। Also Read - WTC फाइनल के दौरान Bhuvneshwar Kumar अचानक क्‍यों होने लगे सोशल मीडिया पर ट्रेंड ? जानें क्‍या है पूरा मामला

साथ ही खबर ये भी है भारत-श्रीलंका सीरीज के लिए कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) समेत कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया जाएगा। ताकि वो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की तैयारी कर सकें। ऐसे में श्रीलंका दौरे पर कई नए चेहरों को मौका मिला सकता है। Also Read - Father's Day पर Emotional पोस्ट कर हार्दिक पांड्या ने दिवंगत पिता को याद किया

श्रीलंका दौरे पर जाने वाले सीमित ओवर फॉर्मेट भारतीय स्क्वाड का चयन करने से पहले इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में अच्छा प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ियों का रुख कर सकती है। हम यहां आपको उन खिलाड़ियों के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें श्रीलंका दौरे पर भारत के लिए डेब्यू कर सकते हैं। Also Read - BCCI को बड़ी राहत; IPL 2021 के सफल आयोजन के लिए CPL का शेड्यूल बदलने को तैयार हुआ क्रिकेट वेस्टइंडीज

देवदत्त पाडिक्कल (Devdutt Padikkal): आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए सलामी बल्लेबाजी करने वाले कर्नाटक के इस बल्लेबाज को श्रीलंका दौरे पर टीम इंडिया की जर्सी पहनने का मौका मिल सकता है। रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में भारत के लिए पारी की शुरुआत करने का मौका मिल सकता है। पाडिक्कल आरसीबी टीम में कप्तान कोहली के साथ सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाते नजर आए हैं।

राहुल तेवतिया (Rahul Tewatia): 13वें आईपीएल सीजन के बाद राजस्थान रॉयल्स के स्टार खिलाड़ी बने राहुल तेवतिया को फिटनेस टेस्ट पास ना कर पाने की वजह से इंग्लैंड के खिलाफ डेब्यू करने का मौका नहीं मिल पाया था लेकिन श्रीलंका दौरे पर उनका ये सपना पूरा हो सकता है। तेवतिया ना केवल किफायती गेंदबाजी करा अहम विकेट निकाल सकते हैं बल्कि निचले क्रम में धमाकेदार बल्लेबाजी भी कर सकते हैं। ऐसा खिलाड़ी किसी भी टीम के लिए अहम साबित हो सकता है।

रवि बिश्नाई (Ravi Bishnoi): हालांकि टीम इंडिया के पास युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जैसे स्पिन गेंदबाज हैं लेकिन आईपीएल 2021 के दौरान इन दोनों ही गेंदबाजों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। वहीं पंजाब किंग्स की ओर से खेल रहे 20 साल के रवि बिश्नोई ने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया। बिश्नोने ने मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स जैसी मजबूत बल्लेबाजी क्रम वाली टीमों के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए बीच के ओवरो में बड़े विकेट लिए हैं। उनका ये प्रदर्शन उन्हें श्रीलंका का टिकट दिला सकता है।

आवेश खान (Avesh Khan): स्पिनर्स के बाद अगर तेज गेंदबाजों की बात करें तो दिल्ली कैपिटल्स के आवेश खान ने आईपीएल 2021 में शानदार प्रदर्शन किया। टूर्नामेंट रोके जाने से पहले खान 14 विकेटों के साथ पर्पल कैप के दावेदारों की सूची में दूसरे नंबर पर थे।

हर्षल पटेल (Harshal Patel): पर्पल कैप सूची में पहले स्थान पर कब्जा करने वाले रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के हर्षल पटेल श्रीलंका दौरे पर राष्ट्रीय टीम के लिए डेब्यू कर सकते हैं। पटेल ने 14वें सीजन के 7 मैचों में 17 विकेट लेकिन बेहतरीन प्रदर्शन किया है जो उन्हें टीम इंडिया की कैप दिलाने में मददगार साबित हो सकता है।