गॉल| भारत ने गॉल अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका पर अपना दबदबा कायम रखा है. भारत ने मैच के तीसरे दिन शुक्रवार को खेल समाप्त होने तक मेजबान टीम पर 498 रनों की बढ़त बना ली. तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत ने अपनी दूसरी पारी में तीन विकेट खोकर 189 रन बनाए हैं. कप्तान विराट कोहली 76 रन बनाकर क्रीज पर जमे हुए हैं. Also Read - Ab de Villiers के इस 4-Point Message से वापस फॉर्म में लौटे Virat Kohli, भारतीय कप्‍तान ने मांगी थी मदद

भारत ने अपनी पहली पारी में शिखर धवन (190), चेतेश्वर पुजारा (153) के शतकों और अजिंक्य रहाणे (57) तथा हार्दिक पांड्या (50) के अर्धशतकों की मदद से 600 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था. Also Read - IPL 2021 RR vs DC Highlights in Hindi: क्रिस मॉरिस की धमाकेदार पारी के दम पर राजस्थान ने दिल्ली को हराया

भारतीय बल्लेबाजों के बाद उसके गेंदबाज श्रीलंका पर हावी हुए और पूरी टीम को 291 रनों पर समेटते हुए पहली पारी के आधार पर 309 रनों की बढ़त ले ली. कोहली ने श्रीलंका को फॉलोऑन नहीं दिया और दूसरी पारी खेलने का फैसला किया. Also Read - BCCI के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की ए+ कैटेगरी में कोहली, रोहित और बुमराह को मिली जगह; पांडे-जाधव बाहर

पहली पारी में शतक बनाने वाले धवन दूसरी पारी में 14 रन ही बना सके. पहली पारी के एक और शतकवीर पुजारा भी 15 रन के निजी स्कोर पर पवेलियन लौटे. इन दोनों बल्लेबाजों के पवेलियन लौटने के समय टीम का कुल स्कोर 56 रन था. लेकिन, इसके बाद कोहली और अभिनव मुकुंद (81) ने तीसरे विकेट के लिए 133 रनों की साझेदारी की.

मुकुंद का विकेट 189 रन पर गिरा और इसी के साथ दिन का खेल खत्म होने की घोषणा कर दी गई. मुकुंद ने 116 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके लगाए. कोहली ने अभी तक 114 गेंदें खेली हैं और पांच बार गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाया है. इससे पहले, अपने दूसरे दिन के स्कोर पांच विकेट पर 154 रनों से आगे खेलने उतरी श्रीलंका की टीम अपने स्कोर में 135 रन ही जोड़ पाई.

पहले दिन के नाबाद बल्लेबाज एंजेलो मैथ्यूज (83) और परेरा ने छठे विकेट के लिए 62 रनों की अर्धशतकीय पारी कर टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचाया. रवींद्र जड़ेजा ने मैथ्यूज को कोहली के हाथों कैच आउट कर श्रीलंका को दिन का पहला झटका दिया.

मैथ्यूज ने अपने पारी में खेली गईं 130 गेंदों पर 11 चौके और एक छक्का लगाया. उनके पवेलियन लौटने के बाद परेरा के साथ टीम की पारी आगे बढ़ाने उतरे कप्तान रंगना हेराथ केवल 9 रन ही बना पाए थे कि वह भी जड़ेजा की गेंद पर रहाणे के हाथों लपके गए.

हेराथ के पवेलियन लौटने के बाद एक छोर पर श्रीलंका की पारी को संभाले हुए परेरा का साथ देने आए नुवान प्रदीप (10) को हार्दिक पांड्या ने विकेट पर टिकने का मौका नहीं दिया और बोल्ड कर मेजबान टीम का आठवां विकेट भी गिरा दिया.

इसके बाद परेरा और कुमारा ने भोजनकाल तक बिना कोई और विकेट गंवाए टीम का स्कोर 289 तक पहुंचाया. दूसरे सत्र में कुमारा के आउट होने के साथ ही श्रीलंका की पहली पारी भी समाप्त हो गई. श्रीलंका के 10 बल्लेबाजों ने ही बल्लेबाजी की क्योंकि असेला गुणारत्ने अंगूठे में चोट के कारण सीरीज से बाहर हो गए. उन्हें मैच के पहले दिन चोट लग गई थी.

भारत के लिए जड़ेजा ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए, मोहम्मद समी ने दो विकेट चटकाए. इसके अलावा, उमेश यादव, पांड्या और रविचंद्रन अश्विन को एक-एक सफलता हासिल हुई. एक बल्लेबाज रन आउट हुआ.