INDvsWI, 2nd ODI: भारत ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ बारिश से प्रभावित दूसरे वनडे मैच में कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक और इसके बाद भुवनेश्वर कुमार की तूफानी गेंदबाजी के दम पर डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 59 रन से जीत दर्ज की. इस जीत के बाद टीम इंडिया ने तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है. पहला वनडे मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था. अब तीसरा और अंतिम वनडे मैच बुधवार को होगा.

इन 12 प्वाइंट्स में जानें मैच की पूरी रिपोर्ट

  1. टीम इंडिया ने टॉस जीतकर बैटिंग का फैसला किया. कप्तान विराट कोहली की 125 गेंद पर 14 चौकों और एक छक्के की मदद से 120 रन की पारी की बदौलत भारत ने सात विकेट पर 279 रन का स्कोर खड़ा किया.
  2. विराट कोहली का यह वनडे में 42वां शतक है. उन्होंने श्रेयस अय्यर (68 गेंदों पर 71) के साथ चौथे विकेट के लिए 125 रन की साझेदारी की.
    पहले ओवर में क्रीज पर उतरे कोहली शुरू से ही लय में दिखे. शिखर धवन (2 रन) की एक और नाकामी के बाद उन्होंने रोहित शर्मा के साथ दूसरे विकेट के लिए 74 रन जोड़े. इसमें रोहित का योगदान 34 गेंदों पर 18 रन का रहा.
  3. कोहली ने इस बीच 19वां रन बनाते ही वेस्ट इंडीज के खिलाफ सर्वाधिक व्यक्तिगत रन का रिकॉर्ड अपने नाम किया. इससे पहले यह रिकॉर्ड पाकिस्तान के जावेद मियांदाद (1930) के नाम पर था. कोहली ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपनी 34वीं पारी में 2000 रन भी पूरे करके अपने साथी रोहित का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 37 पारियों में यह मुकाम हासिल किया था.
  4. अय्यर ने मौके का पूरा फायदा उठाया और आत्मविश्वास से भरी पारी खेलकर चौथे नंबर पर अपना दावा मजबूत किया, क्योंकि ऋषभ पंत (35 गेंदों पर 20) फिर से इस नंबर के साथ न्याय नहीं कर पाए. कोहली को जब दूसरे छोर से एक अदद साथी की तलाश थी तब अय्यर ने वही कमी पूरी की. उन्होंने 49 गेंदों पर अपने करियर का तीसरा अर्धशतक पूरा किया.
  5. कोहली को आखिर में ब्रेथवेट ने अपनी धीमी गेंद पर गच्चा दिया और भारतीय कप्तान ने लांग ऑफ पर आसान कैच थमाया. इससे स्कोर चार विकेट पर 226 रन हो गया. इसके बाद भारतीय टीम बाकी बचे 8.3 ओवर में 53 रन ही जोड़ पाई और इस बीच उसने तीन विकेट भी गंवाए.
  6. बीच में बारिश के व्यवधान के बाद जब खेल फिर शुरू हुआ तो अय्यर पर तेजी रन बनाने का दबाव दिखा और इसी प्रयास में उन्होंने होल्डर की गेंद के लाइन में आए बिना अपना विकेट गंवाया. उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया.
  7. भारत ने डेथ ओवरों में केदार जाधव (16) और भुवनेश्वर कुमार (1) के भी विकेट गंवाए। रवींद्र जडेजा 16 और मोहम्मद शमी तीन रन बनाकर नाबाद रहे. वेस्टइंडीज ने अंतिम 10 ओवर में वापसी की और इस बीच केवल 67 रन दिए और चार विकेट लिए. वेस्ट इंडीज की ओर से कार्लोस ब्रेथवेट सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 53 रन देकर तीन विकेट लिए.
  8. मैच में दूसरी बार बारिश का खलल पड़ने के बाद वेस्ट इंडीज को डकवर्थ लुईस पद्धति के तहत 46 ओवर में 270 रन का लक्ष्य मिला.
    लक्ष्य का पीछा करने उतरे वेस्ट इंडीज ने सधी शुरुआत की. क्रिस गेल और एविन लुईस (65) ने पहले विकेट के लिए 9.3 ओवर में 45 रन जोड़े. अपना 300वां मैच खेल रहे गेल इस पारी के दौरान महान बल्लेबाज ब्रायन लारा को पीछे छोड़कर वनडे मैचों में सर्वाधिक रन बनाने वाले वेस्ट इंडीज के बल्लेबाज बने.
  9. गेल को यह उपलब्धि हासिल करने के लिए सात रन की दरकार थी और उन्होंने खलील अहमद के नौवें ओवर में एक रन के साथ इसे हासिल किया. गेल के नाम पर अब 10353 रन दर्ज हैं, जबकि लारा ने 10348 रन बनाए थे. यह उपलब्धि हासिल करने के बाद हालांकि गेल, भुवनेश्वर के पारी के 13वें ओवर में पगबाधा हो गए. उन्होंने 24 गेंद में सिर्फ 11 रन बनाए.
  10. शाई होप भी इसके बाद खलील की गेंद को विकेटों पर खेल गए. शिमरोन हेटमायर (18) अपनी संक्षिप्त पारी के दौरान प्रभावी दिखे, लेकिन कुलदीप की गेंद पर शॉर्ट कवर पर कोहली को कैच दे बैठे.
  11. पैर में जकड़न के बावजूद लुईस ने अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने निकोलस पूरण (42) के साथ चौथे विकेट के लिए 56 रन जोड़े. कोहली ने कुलदीप की गेंद पर लुईस का एक हाथ से शानदार कैच लपकते हुए उनकी पारी का अंत किया.
  12. इसके बाद वेस्ट इंडीज की पारी को सिमटने में अधिक देर नहीं लगी. पूरण, रोस्टन चेस (18) और केमार रोच (00) को भुवनेश्वर ने पवेलियन भेजा. शमी ने इसके बाद शेल्डन कोटरेल और ओशेन थामस को आउट करके भारत को जीत दिलाई.