पहले ही ओवर से आक्रामक बल्लेबाजी करने वाली ऑस्ट्रेलिया महिला टीम की सलामी जोड़ी- एलिसा हेली (Alyssa Healy) और बेथ मूनी (Beth Mooney) की अर्धशतकीय पारियों के दम पर कंगारू टीम ने आईसीसी टी20 विश्व कप फाइनल मैच में 20 ओवर में चार विकेट खोकर 184 रन बनाए हैं। भारतीय टीम के सामने पहला खिताब जीतने के लिए 185 रन का लक्ष्य है। Also Read - 'सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी जिताने वाले जयदेव उनादकट को मिले टीम इंडिया में मौका'

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मूनी और हेली की जोड़ी ने पहली ही गेंद से अपने इरादे साफ तक दिया। वहीं भारतीय टीम की खराब फील्डिंग ने दोनों बल्लेबाजों को एक-एक जीवनदान दिया। आईसीसी फाइनल इतिहास का सबसे तेज अर्धशतक बनाते हुए हेली ने 39 गेंदो पर 75 रनों की पारी खेली और मूनी के साथ 115 रन की ठोस साझेदारी बनाई। Also Read - Ranji Trophy 2019-20: फाइनल मैच के पहले दिन चमके बंगाल के गेंदबाज; सौराष्ट्र ने बनाए 206/5 रन

12वें ओवर में राधा यादव ने भारत को पहली और सबसे बड़ी सफलता दिलाई। ओवर की चौथी गेंद पर एक और बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में हेली बाउंड्री पर वेदा कृष्णमूर्ति को कैच थमा बैठी। हेली 39 गेंदो पर सात चौकों और पांच छक्कों की मदद से 75 रन बनाकर आउट हुईं। हेली के पवेलियन लौटने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम के विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया लेकिन मूनी ने एक छोर संभाले रखा। Also Read - शेफाली वर्मा के बहते आंसुओं के देख परेशान हुए ब्रेट ली, 'उम्‍मीद करता हूं वो मजबूत वापसी करेगी'

एलीसा हेली ने जड़ा ICC फाइनल का सबसे तेज अर्धशतक; तोड़ा हार्दिक पांड्या का रिकॉर्ड

मूनी ने 54 गेंदो पर 10 चौकों की मदद से 78 रन की नाबाद पारी खेली, जिसके दम पर ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवर में चार विकेट खोकर 184 रन बनाए।

भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने बीच के ओवरों में कप्तान मेग लेनिंग और एश्ले गार्डनर के अहम विकेट लिए। वहीं राधा और पूनम यादव के हाथ एक-एक सफलता लगी।