नई दिल्ली: आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप 2016 का फाइनल मैच इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया था, जिसमें वेस्टइंडीज ने 4 विकेट से जीत हासिल की थी. इससे पहले सुपर 10 ग्रुप 2 का एक मुकाबला भारत और बांग्लादेश के बीच खेला गया था, जिसमें भारत ने बेहद रोमांचक जीत हासिल की थी. यह मैच 23 मार्च 2016 को बैंग्लोर के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया था. इस मैच में टीम के दिग्गज खिलाड़ी महेन्द्र सिंह धोनी ने शानदार विकेटकीपिंग करते हुए बांग्लादेश के हाथ से जीत छीन ली थी. Also Read - लॉकडाउन के बीच हार्दिक पांड्या ने दी मंगेतर नताशा की प्रेग्नेंसी की खबर; फैंस ने दी बधाई

Also Read - विराट कोहली जल्‍द ही टिक-टॉक पर कर सकते हैं डेब्‍यू, अश्विन से इंस्‍टाग्राम चैट के दौरान दिया हिंट

दरअसल इस मुकाबले में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 146 रन बनाए थे. इस दौरान टीम के ओपनर खिलाड़ी रोहित शर्मा 18 रन और शिखर धवन 23 रन बनाकर आउट हो गए थे. वहीं विराट कोहली 24 रन और सुरेश रैना 30 रन बनाकर पवेलियन लौटे थे. बांग्लादेश की ओर से गेंदबाजी करते हुए अल अमीन हुसैन और मुस्तफिजुर रहमान ने 2-2 विकेट झटके थे. Also Read - राजीव गांधी खेल रत्न पाने वाले चौथे क्रिकेटर बन सकते हैं रोहित शर्मा; जानें क्यों हैं इस सम्मान के हकदार

कोहली की वजह से आरसीबी को हुआ भारी नुकसान, दीपिका पादुकोण के साथ स्क्रीन शेयर से करने से किया मना

भारत के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेशी टीम 20 ओवर में 9 विकेट गंवा कर 145 रन ही बना पायी और 1 रन से हार गयी. बांग्लादेश के ओर से बल्लेबाजी करते हुए तमीम इकबाल ने 35 रन और सब्बीर रहमान ने 26 रन की अहम पारी खेली. इस पारी की आखिरी ओवर काफी रोमांचक रहा था. टीम इंडिया के कप्तान धोनी ने यह ओवर हार्दिक पांड्या को दिया था. पांड्या ने इस ओवर में 9 रन देकर 2 विकेट लिए और 1 खिलाड़ी को रनआउट भी किया.

IPL2018: इस बल्लेबाज के नाम दर्ज है सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड, टॉप 5 में सिर्फ एक भारतीय खिलाड़ी

आखिरी ओवर में स्ट्राइक पर मोहम्मदुल्लाह थे. उन्होंने 20वें ओवर की पहली गेंद पर सिंगल लेकर स्ट्राइक रहीम को दी. रहीम ने दूसरी और तीसरी गेंद पर लगातार दो चौके जड़ दिए. इन दो चौकों के बाद लग रहा था कि टीम इंडिया की हार निश्चित है. लेकिन तभी चौथी गेंद पर मैच का रुख बदलता नजर आया और रहीम कैच आउट हो गए. शिखर धवन ने शानदार कैच लेते हुए रहीम को पवेलियन का रास्ता दिखाया. इस ओवर की पांचवीं गेंद पर मोहम्मदुल्लाह कैच आउट हुए और आखिरी गेंद पर धोनी ने मुस्तफिजुर को रन आउट कर दिया.

देखें वीडियो :

भारत की इस जीत में धोनी की अहम भूमिका रही. बतौर कप्तान उन्होंने मैच के दौरान कई तरह की रणनीतियों का इस्तेमाल किया और आखिरी ओवर में पांड्या को लगातार अच्छी गेंदबाजी के लिए प्रेरित करते रहे. यह मैच तो भारत जीत गया था. लेकिन वह फाइनल तक नहीं पहुंच पाया था. इस टूर्नामेंट का पहला सेमीफाइनल इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था. वहीं दूसरा सेमीफाइनल मैच भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया. इस मुकाबले में टीम इंडिया को 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा.